सऊदी दूतावास वाले मार्ग का नाम ‘जमाल खशोगी’ करने का प्रस्ताव

इस प्रस्ताव को अब तक सिटी काउंसिल की मंजूरी नहीं मिली हैं।

सऊदी अरब दूतावास के बाहर एक मार्ग का नाम पत्रकार जमाल खशोगी के नाम पर रखने के प्रस्ताव के समर्थन में वाशिंगटन में स्थानीय अधिकारियों ने वोट किया है।

सऊदी दूतावास से गुजर रहे इस मार्ग का नाम ‘जमाल खशोगी मार्ग’ हो जाएगा अगर प्रस्ताव को सिटी काउंसिल की मंजूरी मिली तो।

अमेरिकी निवासी खशोगी की अक्टूबर में इस्तांबुल में सऊदी दूतावास के भीतर हत्या कर दी गई थी।

शुरूआत में नकारने के बाद सऊदी अरब ने खशोगी की हत्या की बात कबूल कर ली थी।

सीएनएन के मुताबिक मार्ग का नाम बदलने का विचार एक महीने पहले एक ऑनलाइन याचिका के बाद आया है।

याचिका में कहा गया है, “मार्ग का नाम बदलने का सुझाव सऊदी अरब के अधिकारियों को रोजाना यह याद दिलाने के लिए दिया गया है कि ऐसी हत्याएं पूरी तरह अस्वीकार्य हैं और यह अमेरिका के प्रेस की स्वतंत्रता के प्रति समर्थन को दर्शाता है।”

गौरतलब है कि इसी साल रूस के दूतावास के बाहर भी एक सड़क का नाम बदलकर बोरिस नेम्तसोव रखा गया था।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के आलोचक बोरिस नेम्तसोव की 2015 में मॉस्को में हत्या कर दी गई थी।

Back to top button