खेल प्रतिभाओं को निखारने के साथ मिल रहा खेलों को संरक्षण : केदार

जगदलपुर: 17वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता का समापन समारोह जगदलपुर के इंदिरा प्रियदर्शिनी स्टेडियम में सोमवार हुई। इस दौरान प्रदेश के आदिम जाति एवं कल्याण मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि, प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की ओर से छत्तीसगढ़ में खेल प्रतिभाओं को निखारने के लिए बेहतर प्रयास किए जा रहे हैं। छत्तीसगढ़ शासन की इन्हीं प्रयासों का परिणाम रायपुर में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और हॉकी स्टेडियम के रूप में सामने आया है। उन्होंने कहा कि, खेल प्रतिभाओं को अधिक से अधिक अवसर प्रदान करने के लिए छत्तीसगढ़ को 5 जोन से बढ़ाकर 12 जोन में बांटा गया, जिसके परिणाम स्वरुप खिलाडिय़ों की संख्या 19 हजार से बढ़कर 30 हजार हो गई है। आज छत्तीसगढ़ के खिलाड़ी उन अंतर्राष्ट्रीय खेलों में महारत हासिल कर रहे हैं, जिनके बारे में हम सिर्फ इंटरनेट से जानकारी ले पाते हैं। शासन की ओर से खेल प्रतिभाओं को अधिक से अधिक अवसर उपलब्ध कराने के साथ ही परम्परागत खेलों को संरक्षित करने का कार्य भी कर रही है। उन्होंने आगामी राष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन जगदलपुर में कराने की बात भी कही।

रायपुर बना ओवरऑल चैम्पियन
चार दिवसीय इस खेल प्रतियोगिता में 14, 17 और 19 वर्ष आयु वर्ग के बालक-बालिकाओं के लिए तैराकी, 19 वर्ष बालक वर्ग में वाटर पोलो, 14,17 और 19 वर्ष आयु वर्ग के बालक-बालिकाओं के लिए थ्रो बॉल और 19 वर्ष आयु वर्ग में बालक-बालिकाओं की कबड्डी की प्रतियोगिता हुई, जिसमें ओवरऑल चैम्पियनशिप पर रायपुर जोन ने कब्जा जमाया।
इस दौरान कलेक्टर धनंजय देवांगन, पद्मश्री धर्मपाल सैनी, जिला ओलंपिक संघ के अध्यक्ष एनआर प्राशर, युवा आयोग के सदस्य संग्राम सिंह राणा उपस्थित थे। इसके साथ ही पार्षद संजय पाण्डेय, रजनीश पाणीग्राही, जिला शिक्षा अधिकारी राजेन्द्र झा सहित जनप्रतिनिधि और खिलाड़ी उपस्थित थे।

Back to top button