अंतर्राष्ट्रीयबड़ी खबर

भारतीय मूल के व्यक्ति का गला दबाने वाले अमेरिकी पुलिसकर्मी के खिलाफ प्रदर्शन

घटना का वीडियो देखने के बाद पुलिस की बर्बरता के खिलाफ लोग भड़क उठे हैं।

न्यूयॉर्क। न्यूयॉर्क में गिरफ्तारी के दौरान भारतीय मूल के एक व्यक्ति की गर्दन को घुटने से दबाने वाले पुलिसकर्मी के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन शुरू हो गया है। घटना का वीडियो देखने के बाद पुलिस की बर्बरता के खिलाफ लोग भड़क उठे हैं।

सोमवार को स्केनेक्टडी शहर में युगेश्वर गैंदरपरसौद की गिरफ्तारी के दौरान उसके गले को घुटने से दबाते पुलिसकर्मी के वीडियो ने 25 मई को मिनियोपोलिस में हुई घटना की याद दिला दी।

हालांकि, इस घटना में युगेश्वर को उनकी गिरफ्तारी के बाद अस्पताल ले जाया गया और वे बच गए।

बाद में उन्होंने स्केनेक्टडी पुलिस मुख्यालय के बाहर लगभग 100 लोगों के साथ एक विरोध प्रदर्शन में भाग लिया। मीडिया रिपोटरें के अनुसार, विरोध के दौरान पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई।

हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव के डेमोक्रेटिक सदस्य पॉल टोनको ने ट्वीट कर कहा, “मैं स्केनेक्टडी के एक पुलिस अधिकारी की इस हिंसा को देखकर क्रोधित और हतप्रभ हूं।”

बाद में शहर के पुलिस प्रमुख एरिक क्लिफोर्ड ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि ऐसी शिकायतें आई थीं कि युगेश्वर ने एक कार के टायर को काट दिया था और जब पुलिस ने उसे गिरफ्तार करने की कोशिश की तो उसने विरोध किया।

उन्होंने कहा कि उसके गले को पकड़ने का प्रयास केवल उसे नियंत्रित करने के लिए किया गया था। इतना ही नहीं, बाद में वह गाड़ी तक चलकर आने में सक्षम भी था। वहीं युगेश्वर ने डेली गैजेट को बताया कि जब उसे गाड़ी में बैठाया गया तो वह बेहोश था, उसे अस्पताल में जाकर होश आया।

क्लिफोर्ड ने कहा है कि इस मामले में आंतरिक जांच का आदेश दे दिया गया है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button