बड़ी खबरराजनीतिराष्ट्रीय

Monsoon session : संसद के मानसून सत्र परिसर में निलंबित सांसदों का प्रदर्शन

सभापति ने ये कार्रवाई डेरेक ओ’ब्रायन, संजय सिंह, राजीव सातव, के.के. रागेश, रिपुन बोरा, डोला सेन, सैयद नजीर हुसैन और एलामरम करीम के खिलाफ की है।

नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र (Monsoon session) का आज 8वां दिन हैं। रविवार को राज्यसभा में हंगामा करने वाले विपक्ष के 8 सदस्यों को सभापति वेंकैया नायडू ने एक हफ्ते के लिए सदन से निलंबित कर दिया है। सभापति ने ये कार्रवाई डेरेक ओ’ब्रायन, संजय सिंह, राजीव सातव, के.के. रागेश, रिपुन बोरा, डोला सेन, सैयद नजीर हुसैन और एलामरम करीम के खिलाफ की है।

इसके साथ ही राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को भी सभापति ने खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि कल का दिन राज्यसभा के लिए सबसे खराब दिन था। कुछ सदस्यों के आचरण ने शिष्टाचार की सभी सीमाओं को पार कर दिया, जिससे सदन की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचा।

लोकसभा में भाजपा सांसद सत्यपाल सिंह ने कहा कि हमें पता है कि उत्तर पूर्व में क्या हुआ। पिछले 50 सालों में चीजें कैसे बदलीं और एक विशेष धर्म तेजी से बढ़ा। सरकारी और खुफिया रिपोर्ट है कि FCRA के पैसों से वहां कैसे उग्रवाद बढ़ा है।

राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू द्वारा निलंबित विपक्ष के आठों संसद गांधी प्रतिमा के सामने धरना दे रहे हैं। इससे पहले निलंबित संसदों ने राज्यसभा में जोरदार हंगामा किया, जिसकी वजह से कार्यवाही को कल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

अनुराग कश्यप के खिलाफ यौन शोषण का मामला संसद तक पहुंचा 

अनुराग कश्यप के खिलाफ यौन शोषण का मामला संसद तक पहुंच गया है। बीजेपी सांसद रूपा गांगुली ने कार्रवाई की मांग को लेकर संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि मुंबई फिल्म इंडस्ट्री किसी को मारेगी, किसी को गांजा पिलाएगी, किसी को कोकेन पिलाएगी और बोल देगी सुशांत सिंह ने आत्महत्या की। यहां लड़कियों को अपमानित किया जाता है और मुंबई पुलिस इस पर कोई एक्शन नहीं लेती।

राज्यसभा में एक लिखित जवाब में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी ने बताया कि 1 जनवरी 2020 से 31 जुलाई 2020 के बीच नई दिल्ली में सांसदों के फ्लैटों / बंगलों में चोरी और अन्य अपराधों की 13 घटनाएं हुईं। दिल्ली पुलिस ने अपराध को नियंत्रित करने के लिए ठोस उपाय किए हैं।

सभापति की ओर से की गई कार्रवाई के बाद भी निलंबित होने वाले सांसद सदन में मौजूद हैं। उपसभापति 8 सांसदों को सदन से बाहर जाने के लिए कह रहे हैं। कार्रवाई से नाराज विपक्षी दलों के सांसद सदन में हंगामा कर रहे हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button