मैनपुर तहसीलदार के हटाये जाने को जनप्रतिनिधियों ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

जिला पंचायत उपाध्यक्ष संजय नेताम ने कहा कि एक सरल और अच्छी कार्यकुशलता की धनी तहसीलदार को लॉकडाउन के बीच अचानक हटाना कई संदेहों को जन्म देता है।

प्रणव 

मैनपुर : तहसील कार्यालय मैनपुर में पदस्थ तहसीलदार रजनी भगत के एकाएक अचानक तबादला होना अब स्थानीय जनप्रतिनिधियों के गले नहीं उतर रही है। जनप्रतिनिधियों के कहना है कि बिना कोई ठोस कारण के इस तरह तहसीलदार को हटाया जाना अनुचित है यदि शासन स्तर पर स्थानांतरण होता तब बात अलग थी। न ही कोई शिकायत और न ही बिना किसी गड़बड़ी के हटाया जाना दुर्भाग्यजनक है।

जिला पंचायत उपाध्यक्ष संजय नेताम ने कहा कि एक सरल और अच्छी कार्यकुशलता की धनी तहसीलदार को लॉकडाउन के बीच अचानक हटाना कई संदेहों को जन्म देता है।

ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मनोज मिश्रा के कहा

कलेक्टर की उपस्थिति में भी यह आदेश डिप्टी कलेक्टर के हस्ताक्षर से जारी किया जाना अपनों को उपकृत किए जाने का प्रयास प्रतीत होता है।ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मनोज मिश्रा के कहा कि इसके पूर्व भी कई अधिकारियों के खिलाफ गड़बड़ी व अन्य शिकायतें मिली थी जिसकी शिकायत आमजन व कांग्रेस पदाधिकारियों ने की थी उसकी कोई कार्रवाई नहीं हुई लेकिन एक कर्तव्यनिष्ठ तहसीलदार को अचानक हटाकर वित्तीय अधिकार एसडीएम व प्रशासनिक अधिकार नवपदस्थ तहसीलदार को देना कहाँ तक उचित है, इस तबादले का सरपंच संघ अध्यक्ष बलदेव राज ठाकुर व एनएसयूआई के विधानसभा अध्यक्ष प्रवीण बाम्बोड़े ने भी प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से अनुचित ठहराया है इन्होंने कहा कि जनभावनाओं के अनुरूप कार्य करने वालों का इस प्रकार प्रशासनिक व कार्यपालिक दण्डाधिकारी के पद के साथ न्याय नहीं किए जाने का हवाला देकर मुख्यालय अटैच करना जनभावनाओं पर कुठाराघात है।

Tags
Back to top button