लोक निर्माण विभाग का सड़क बना दुर्घटना वाली सड़क

स्तरहीन मुरम के बिछे जाने से हुआ हादसा एक युवक की मौके पर ही मौत

– हितेश दीक्षित

छूरा ग्रामीण: लोक निर्माण विभाग जनता का समय बचाने एवं सुरक्षा मुहैया करने शासन प्रशासन द्वारा सड़कों का चौड़ीकरण किया जा रहा है कही पर नया सड़क बनाया जा रहा है तो कही पर मरम्मत किया जा रहा है ।
ऐसा ही एक वाक्या है फिंगेश्वर से छूरा तक बनाई जा रही लोकनिर्माण विभाग की सड़क जिसकी लागत 48 करोड़ है जिसका ठेका रायपुर के जीपी खैतान को मिला हुआ है । निर्माणाधीन सड़क में लगातार घोर लापरवाही बरती जा रही है जिसका खामियाजा आम लोगो को भुगतना पड़ रहा है इस सड़क में जब से बन रहा है तब से इस लोक निर्माण विभाग की सड़क में दुर्घटना रुकने का नाम नही ले रही है बरसात के दिनों में जब इस सड़क का कार्य धीमी गति से चल रहा था तो इससे स्कूली बच्चे परेशान थे आये दिन उन्हें धूल कीचड़ से सन कर स्कूल जाना पड़ता था और ग्रामीण भी इससे काफी परेशान थे।

उस समय भी इसमें काफी दुर्घटनाएं होते रही है क्योकि बरसात के समय इस सड़क निर्माण ने जगह जगह गड्ढे थे जिसे समय रहते नही भरा गया जिसके कारण दुर्घटना होती रही और जानमान की हानि होते रही। रोड निर्माण अब अंतिम कगार पर है जिस रोड में अगल बगल मुरम डाला जाता है वह मुरम स्तरहीन और मिट्टी युक्त मुरम का उपयोग किया जा रहा है जिसके कारण आज विजय कुमार खैरवार ने बिना किसी वाहन से टकराये बिना नशा पानी किये लोकनिर्माण विभाग की नवनिर्मित सड़क में अनियंत्रित होकर गिर गया जिसमे विजय कुमार खैरवार पिता छोटा खैरवार उम्र 20 वर्ष निवासी मालिडीह की मौके पर ही मौत हो गयी उसके साथ सवार साथी जुगेश्वर खैरवार ने बताया कि मुरम में फिसल जाने से वाहन अनियंत्रित हो गया क्योंकि मुरम बिछा है एकदम रफ बिछा है जिसके कारण हमलोग फिसल गये इस कारण हमारे साथी विजय कुमार के सिरमें गंभीर चोट आई और उसकी मौके पर ही मौत हो गयी।बाकी साथी सुरक्षित है। इसी तरह कुछ माह पूर्व पाटसिवनि सरपंच स्व पुरुषोत्तम दीवान की भी इसी निर्माणाधीन सड़क में वाहन अनियंत्रित होकर पलट गई थी जिसमें उनकी मौके पर ही मौत हो गयी है।

स्तरहीन गिट्टी का उपयोग

इस सड़क में स्तरहीन गिट्टी का उपयोग किया गया है जीसके कारण उक्त गिट्टी जमीन में जल्दी से पषता नही है और एक बार कहि पानी पड़ जाए तो वापस फिर से उभर जाता है और वाहन के आने जाने से इस स्तरहीन गिट्टी का सत्यानाश हो जाता है जिसका खामियाजा राहगीरों को भुगतना पड़ता है । इस लोक निर्माण विभाग सड़क निर्माण में चुरा गिट्टी की अधिकता के कारण नवनिर्मित सड़क का स्तर खराब हो रहा है आये दिन लोग दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं क्योंकि चार पहिया वाहन के साथ इस सड़क में दोपहिया वाहन भी गुजरते हैं जब दोपहिया वाहन ओर चारपहिया वाहन एक साथ जब गुजरते हहै तो चारपहिया वाहन ओवरटेक करते हैं तो दुपहिया वाहनों को धूल के गुब्बार के सिवाय कुछ दिखाए नही देता। धूल के गुब्बार आंखों मे जाता है आंख काफी प्रभावित हो जाता है धूल से। रोड निर्माण ठेकेदार को समय समय मे इसमें पानी का छिड़काव नही करता है इसलिए लोगो को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है।

रोड के अगल बगल मुरम तो डाला गया लेकिन मिट्टी युक्त

निर्माणाधीन सड़क में अगल बगल मुरुम बिछाया तो गया है लेकिन मुरम मेमिट्टी मिला हुआ है जो को स्तर हीन मुरम की और संकेत करता है । क्योकि आगामी कुछ ही महीनों में बारीश का मौसम शुरु हो जायेगा और मुरम मिट्टी युक्त होने के कारण कीचड़ में तब्दील हो जायेगा।

स्तरहीन मुरम वो भी बिना ग्राम पंचायत के एनओसी के खुदाई कर गया मुरम सप्लाई

सड़क निर्माण के तथाकथित ठेकेदार के द्वारा ग्राम पंचायत कुसुमबुड़ा के एक तालाब में जहा पर लाखों का काम मनरेगा के तहत होना था जिसपर ठेकेदार ने बिना पंचायत से प्रस्ताव लिये बिना पंचायत से अनुमति लिये तालाब के मुरम को पूरी तरह खोद डाले जिसके कारण आज ग्राम पंचायत कुसुमबुड़ा के निवासी में काफी आक्रोश व्याप्त है और न्याय की गुहार लगाए हैं ओर उक्त ठेकेदार के खिलाफ सरपंच समेत ग्रामवासियों ने भी एफआईआर करने की बात कही। इसी मामले में ग्राम पंचायत सरपंच उमेन्द्र सोरी ने कहा कि मै खुद चाहता हु की जीपी खैतान के खिलाफ एफआईआर करू लेकिन सचिव कृश्लाल सिन्हा एफआईआर करने के लिए मना करता है क्यो करता है समझ नई आ रहा है कारण जानने के लिए आप उससे संपर्क कर सकते हो।

उक्त सड़क निर्माण में 5 माह 4 घटनाएं 3 की मौत

उक्त निर्माण कार्य में5 माह में करीब 4 दर्दनाक घटनाएं हो चुकी है वो भी किसी एक दूसरे वाहन से टकराकर नही हुई है 2 वाहन जम्प हुए हैं और 2 दुपहिया वाहन 1 पेड़ से टकराया और आज मुरम में फिसलकर अबतक तीन की मौत हो चुकी है जिनके वाहन क्र निम्नानुसार है – CG06B2966, CG04LJ5397, CG04CB5338,CG04KQ9206, ये सभी वाहन हैं जिसमे 3 वाहनों में सवार अलग अलग वाहनों से 1 -1 लोगो की मौत इसी सड़क में बिना किसी अन्य वाहन से टकराये बिना ही दुर्घटना का शिकार ही गये और मौके पर ही मौत हो गयी । क्योंकि इस सड़क निर्माण में रोड रोलर को समय को ध्यान में सीमित समय के लिए चलाया जाता है इस कारण सड़क का कहि पर समतल होना तो कही पर सड़क जस का तस है।

ग्राम पंचायत परसदा सरपंच विष्णु नागेश ने बताया कि इसमें ठेकेदार खैतान घोर लापरवाही बरत रहा है कहि पर मुरम बिछाया है तो कही पर छोड़ दिया है न ही कही पर सांकेतिक बोर्ड लगाया गया है जिसके कारण लोग लगातार दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं आप इधर फील्ड में आओगे तो आपको खुद पता चल जायेगा ठेकेदार का कर्षतानी। मिट्टी युक्त मुरम डाला गया है क्योंकि नियम में है और उस मरने वाले को रोड के बीच मे चलना चाहिये रोड किनारे में क्यो चला- एच आर ध्रुव लोकनिर्माण विभाग अधिकारी गरियाबंद छग.

Back to top button