लोक निर्माण विभाग ने नवीनीकरण कार्य किया, तीन माह में उखड़ने लगी

हितेश दीक्षित

छुरा।

आज से करीब साल भर पूर्व बहुप्रिक्षित छुरा से रसेला 17 किलोमीटर मार्ग का नवीनीकरण कार्य लोक निर्माण विभाग द्वारा किया गया था जो कि नवीनीकरण पूर्ण होने के महज तीन माह के उपरांत ही उखड़ने लगी थी । विदित हो कि छुरा से रसेला मार्ग को बनाने की मांग क्षेत्रवासियों के द्वारा काफी लंबे अरसे से की जा रही थी जो को काफी लंबे इंतेज़ार के बाद पूर्ण हुई थी।

ज्ञात हो गत वर्ष लोक सूराज अभियान के तहत छत्तीसगढ़ के भूत पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का उड़न खटोला छुरा क्षेत्र के ग्राम सेमरा में उतरा था तब क्षेत्रवासियों ने उनसे चौपाल में छुरा से रसेला सत्रह किलोमीटर सड़क की खराब हालत दिखाते हुए इस मार्ग को जल्द से जल्द बनवाने की मांग भूत पूर्व मुख्यमंत्री के समक्ष रखी तब उन्होंने तत्काल इस सड़क को बनवाने के आदेश दिए।

जिसके कुछ दिनों उपरांत ही लोक निर्माण विभाग के द्वारा छुरा से रसेला सत्रह किलोमीटर मार्ग का नवीनीकरण कार्य प्रारंभ कर दिया गया जिसमें उक्त विभाग के द्वारा भारी लापरवाही बरती गई जिसके नतीजतन उक्त नवीनीकरण के महज तीन माह बाद से ही सड़क की हालत बिगड़ने लगी एवं सड़क उखड़ने लगी जिसको लेकर अखबारो में कई बार प्रमुखता से उक्त लापरवाही के सम्बंध में ख़बर प्रकाशन भी किया गया।

परंतु खबर प्रकाशन के उपरांत भी उक्त विभाग के द्वारा लीपा पोती करने हेतु उखड़े हुए सड़क एवं गड्ढो को डामर से बिना रोलिंग किये ही भर दिया गया लेकिन उक्त कार्य में लापरवाही करने वाले ठेकेदार एवं सम्बन्धित विभाग के ऊपर आज पर्यन्त तक न तो किसी प्रकार की कोई जांच हुई और नाही कोई कार्यवाही हुई।

विदित हो कि यह छूरा से रसेला मार्ग काफी लंबे समय के इंतेज़ार के बाद बनी थी जिससे कि क्षेत्रवासियों में खुसी की लहर थी परंतु निर्माण के महज तीन माह उपरांत ही सड़क के उखड़ जाने से क्षेत्र के लोगो मे आक्रोश व्याप्त है चुकी की यह छुरा से रसेला मार्ग बेहद ही अहम है एवं यह सड़क छत्तीशगढ़ से ओडिशा को जोड़ती है एवं इस सड़क रोजाना हजारो गाड़िया चलती है जिन्हें इन गड्ढो के चलते परेशानी का सामना करना पड़ता है।

अतः क्षेत्रवासियों ने उक्त सड़क निर्माण में लापरवाही करने वाले ठेकेदार एवं विभाग के ऊपर जांच कर उचित कार्यवाही करते हुए उक्त सड़क को नए सिरे से बनाने की मांग की है ।

क्या कहते है जिलाधीश

उपरोक्त संबंध में जिलाधीश से चर्चा की गई तो उन्होंने कहा कि मुझे जानकारी मिली है कि रिपेरिंग किया गया है फिर भी छुरा से रसेला मार्ग का मैं खुद ही आकर निरीक्षण करता हूँ।

श्री श्याम धावड़े (कलेक्टर गरियाबंद)

advt
Back to top button