पुलवामा: घटना की निंदा करते हुए राहुल ने कहा, हिंदुस्तान की आत्मा पर हुआ है हमला

हीं पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने भी इस घटना की कड़ी निंदा की

नई दिल्लीः जम्मू कश्मीर में हुई आतंकी हमले की कड़ी निंदा करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि ये हमला हिंदुस्तान की आत्मा पर हमला है. आतंकी हमले के खिलाफ हम सरकार के हर कदम का समर्थन करते है. उन्होंने कहा कि इस मामले पर पर हम और शहीदों के परिवारों के साथ खड़े हैं. इस हमले से हमारे दिल को चोट पहुंची है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुलवामा के अवंतिपोरा में हुए आतंकी हमले पर कहा है कि दुख की इस घड़ी में पूरा देश एक साथ है. उन्होंने कहा कि देश को कोई शक्ति नहीं तोड़ सकती है. पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने देश को आश्वासन दिया कि हम सरकार और सुरक्षाबलों के साथ है. हम इस हमले पर राजनीति नहीं करेंगे.

वहीं पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा कि हम शहीदों के परिवारों के साथ खड़े हैं. आतंकवाद से किसी कीमत पर समझौता नहीं हो सकता है.

आतंकी संगठनों ने बहुत बड़ी गलती की, इसकी कीमत उनको चुकानी पड़ेगी: PM मोदी

पुलवामा आतंकी हमले के बाद पहली बार बोलते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने सैनिकों की शहादत पर कहा, ”हर भारतीय की संवेदनाए उनके साथ हैं. देश में आक्रोश है, लोगों का खून खौल रहा है. देश की अपेक्षाएं हैं. कुछ कर गुजरने की भावनाएं हैं. वो स्वाभाविक है.

सुरक्षा बलों को पूर्ण स्वतंत्रता दे दी गई है. हमले से लोगों का खून खौल रहा है. सुरक्षा बलों को अपनी कार्रवाई के लिए पूर्ण स्‍वतंत्रता दे दी गई है. आतंकी संगठनों ने बहुत बड़ी गलती की. इसकी कीमत उनको चुकानी पड़ेगी.”

उन्‍होंने कहा, ”आतंकी संगठनों और सरपरस्तों को कहना चाहता हूं कि वो बहुत बड़ी गलती कर चुके हैं, उनको बहुत बड़ी कीमत चुकानी होगी. हमले के पीछे जो ताकतें हैं जो गुनाहगार हैं, उन्हें किए की सजा अवश्य मिलेगी. जो हमारी आलोचना कर रहे हैं उनकी भावनाओं का आदर करता हूं, उनको आलोचना करने का अधिकार है. सभी साथियों से अनुरोध है कि ये संवेदनशील और भावुक पल है पक्ष में या विपक्ष में- हम सब राजनीतिक छींटाकशी से दूर रहें. देश एकजुट हो कर मुकाबला कर रहा है. देश एक साथ है.’

अभी तक हमले में 44 जवानों हो चुके है शहीद, कई घायल है

बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले में अब तक 44 सीआरपीएफ जवान शहीद (समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक) हो चुके है, जबकि कई घायल जवान अभी भी अस्पताल में भर्ती है. ये हमला गुरुवार को जम्मू श्रीनगर हाईवे पर पुलवामा जिले के अवंतिपोरा में सीआरपीएफ (CRPF) के वाहन को निशाना बनाकर आईईडी ब्लास्ट (IED Blast) के जरिए किया गया. सीआरपीएफ के वाहनों पर यह हमला उस वक्त हुआ, जब सेना के जवानों का काफिला जम्मू से श्रीनगर की ओर जा रहा था.

हालातों की गंभीरता को देखते हुए अधिकारियों ने कश्मीर घाटी और जम्मू में इंटरनेट सेवा पर फिलहाल रोक लगा दी है.इस काफिले में 78 वाहन शामिल थे, जिनमें 2500 सुरक्षाकर्मी सवार थे. आतंकियों ने इलाके में जवानों पर पहले गोलीबारी की और फिर उन पर कार के जरिये आईईडी ब्‍लास्‍ट किया.

सेना से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि 2001-02 में आतंकियों ने इसी तरह के फियादिन हमले को अंजाम दिया था. सेना का कहना है कि सेना ने जिस तरह से आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाया है, उसमें उनकी बौखलाहट बढ़ गई है. इसी कारण उन्‍होंने आईएसआईएस की तर्ज पर ये हमला किया है.

Back to top button