दो टूक (श्याम वेताल) : पुलवामा: न भूलेंगे न माफ करेंगे

Vetal-Sir

श्याम वेताल

वी विल नॉट फॉरगेट, वी विल नॉट फॉरगिव-हम न भूलेंगे न माफ करेंगे। हां… पुलवामा में जो कुछ हुआ है उस पर आज पूरे देश के बच्चे बच्चे का भी यहीं स्वर है। हर नागरिक गुस्से से भरा हुआ है। हमारे 40 सुरक्षा कर्मियों की जान लेने की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने भले ली हो लेकिन सभी जानते हैं कि इस हमले के पीछे पाकिस्तान का हाथ है। पाकिस्तान ही वह देश है जो जैश-ए-मोहम्मद जैसे तमाम दहशतगद संगठनों को पनाह दिए हुए है।

पुलवामा हमले के पहले 18 दिसंबर 2018 को उरी में सेना के कैम्प पर हमला बोलकर आतंकवादियों ने हमारे 19 जवानों को शहीद कर दिया था। उस समय भी पूरा देश उबल पड़ा था लेकिन हमारी सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक कर पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया था।

पिछले पांच सालों में पाकिस्तान ने ऐसी 12 कायाराना हरकतें की जिसमें हमारे 136 जवान शहीद हुए इस सब हमलों में पुलवामा का हमला सबसे बड़ा रहा।

आतंकवादी संगठनों को पाल रहे पाकिस्तान भी स्थिति दुनिया में ऐसी हो गयी है कि कोई देश उसकी मदद के लिए आगे नहीं आ रहा है और पाकिस्तान इस समय बदहाली के दौर से गुजर रहा है।

पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान का मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा भी छीन लिया गया है। पुलवामा हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के 40 जवानों के परिजनों पर दुखों का जो पहाड़ गिर पड़ा है उसे लेकर समस्त देशवासी द्रवित है और गुस्से में जगह जगह प्रदर्शन भी कर रहे हैं।

देशवासियों की मांग है कि सरकार को जल्द से जल्द पाकिस्तान को अच्छा सबक सिखाने के लिए कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।

देशवासियों की इसी भावना को समझते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस क्रूर घटना के बाद पूरे देश का खून खौल रहा है। शहीदों के खून की एक एक बूंद की कीमत आतंकवादियों को चुकानी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों को पूरी छूट दे दी गई।

दुुनिया के गई देशों ने आतंकवादियों के इस जघन्य कांड की निंदा की है और भारत को भरोसा दिलाया है कि आतंकवाद से संघर्ष में वे साथ हैं। इसे मौके पर देश के विपक्षी दलों ने भी सरकार का साथ देने का वादा किया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुलवामा हमले की निंदा करते हुए कहा है कि हम सुरक्षा बलो और सरकार के साथ है।

यद्यपि इस हमले की जांच की कार्रवाई शुरू हो चुकी है और यह भी पता लगाया जा रहा है कि हमारी सावधानी में कहां चूक हुई है लेकिन एक बात तो तय है कि देशवासी उस क्षण का इंतजार कर रहे हैं जब यह खबर आएगी कि पाकिस्तान को पुलवामा हमले का मुंहतोड़ जवाब दे दिया गया है और ऐसा सबक सिखाया गया है कि भविष्य मेें वह ऐसी हरकत से पहले सौ -सौ बार सोंचे।

Back to top button