पुलवामा मुठभेड़ में 12 लाख का इनामी, इनामी आतंकी रियाज नायकू साथी सहित ढेर

पुलवामा में जारी मुठभेड़ और सोशल मीडिया पर दुष्प्रचार होते देख प्रशासन ने कश्मीर घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी है।

पुलवामा। जिले में दो स्थानों पर जारी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने पांच आतंकियों को मार गिराया। पुलवामा के अवंतीपोरा मुठभेड़ में एक बड़ी सफलता मिली है। यहां सुरक्षाबलों ने हिजबुल कमांडर और लाखों के इनामी रियाज नायकू को ढेर कर दिया। जबकि इस दौरान उसका एक साथी आतंकी आदिल भी मारा गया।

रियाज नायकू हिजबुल कमांडर बुरहान वानी का करीबी था और इसने 2010 में आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन का दामन थामा था। रियाज नायकू की सुरक्षाबलों को कईं मामलों में तलाश थी। आतंकी बनने से पहले रियाज एक निजि स्कूल में अध्यापक था। वहीं पुलवामा में जारी मुठभेड़ और सोशल मीडिया पर दुष्प्रचार होते देख प्रशासन ने कश्मीर घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी है।

आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने भी आतंकी रियाज नायकू के पुलवामा मुठभेड़ में मारे जाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि मुठभेड़ के दौरान रियाज एक साथी के साथ मारा गया। उन्होंने कहा कि अभियान अभी जारी है। उधर पुलवामा जिले के ही शरशाली खरयू इलाके में आतंकियों तथा सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया है। मारे गए आतंकियों की पहचान नहीं हो पाई है।

इंटरनेट सेवा बंद कर दी

सुरक्षाबलों ने आतंकियों के शवों के साथ हथियार व गोला-बारूद बरामद किए हैं। यह मुठभेड़ मंगलवार देर रात से जारी थी।पुलवामा जिले के अवंतीपोरा के अंतर्गत बेगीपोरा गांव में मंगलवार को 12 लाख का इनामी आतंकी रियाज नायकू बीमार चल रही अपनी मां को देखने दो साथियों के साथ आया था। आतंकी रियाज नायकू के इलाके में होने की गुप्त सूचना सुरक्षाबलों को प्राप्त हुई।

सूचना मिलते ही सेना की 55 आरआर, सीआरपीएफ तथा एसओजी की एक संयुक्त टीम ने पूरे क्षेत्र की घेराबंदी की। सुबह की पहली किरण निकलते ही सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई। इस दौरान सुरक्षाबलों ने उस मकान को नष्ट कर दिया जहां आतंकी रियाज नायकू छिपा बैठा था। मुठभेड़ में रियाज नायकू सहित दो आतंकी भी मारे गए। क्षेत्र में अभी अभियान जारी है। पुलवामा मुठभेड़ को देखते हुए प्रशासन ने हिंसक प्रदर्शनों के मद्देनजर इंटरनेट सेवा बंद कर दी है।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
Back to top button