पुणे के सामने जमशेदपुर की मजबूत रक्षापंक्ति की चुनौती

पुणे के सामने जमशेदपुर की मजबूत रक्षापंक्ति की चुनौती

पुणेः एफसी पुणे सिटी अपने आक्रामक खेल के दम पर इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के इस सत्र में तालिका में पहले स्थान के काफी करीब है लेकिन वहां पहुंचने के लिये कल उसे मजबूत रक्षापंक्ति के लिए मशहूर जमशेदपुर एफसी की चुनौती से पार पाना होगा। पुणे और जमशेदपुर के बीच यह मुकाबला को श्री शिव छत्रपति शिवाजी खेल परिसर स्टेडियम में खेला जाएगा। पुणे के 11 मैचों में 19 अंक हैं और वह 10 टीमों की तालिका में तीसरे स्थान पर है। घर में जीत उसे पहले स्थान पर पहुंचा सकती है। यह बेहद मजबूत आक्रमणपंक्ति वाली टीम के लिए मानसिक बढ़त होगी। इस मैच में पुणे को एक और फायदा यह है कि उसके कोच रैंको पोपोविक चार मैचों के प्रतिबंध के बाद मैदान पर लौट रहे हैं।

पुणे को चेन्नइयन एफसी और बेंगलुरू एफसी के खिलाफ मिली हार के कारण अभी तक पहले स्थान से महरूम रहना पड़ा था। पोपोविक का मानना है कि दोनों टीमें मैच में उनकी टीम से अच्छी साबित हुई थीं। पोपोविक ने घर में तीन हार झेलने के सवाल पर कहा, ‘‘हमने यहां कुछ अच्छे मैच खेले हैं। अगर हम सिर्फ परिणामों को देखेंगे तो यह काफी अलग हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमने अच्छी और संगठित फुटबाल खेली है। रेड कार्ड मिलने तक हम बेंगलुरू एफसी के खिलाफ अच्छा खेल रहे थे। उन्होंने गोल नहीं किया था। चेन्नइयन ने पहले हाफ में गोल किया था और 1-0 से मैच जीत लिया था।’’ जमशेदपुर के कोच स्टीव कोपेल ने माना कि पुणे की टीम काफी खतरनाक है। खासकर उनसे स्ट्राइकर मार्सेलिहो, जिन्हें पिछले साल गोल्डन बूट का अवार्ड मिला था। मार्सेङ्क्षलहो अभी तक खेले नौ मैचों में छह गोल हैं।

कोपेल ने कहा, ‘‘आक्रमण करने को लेकर उनके पास कुछ अच्छे खिलाड़ी हैं। हम इस बात को नकार नहीं सकते। हमें इससे निपटने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ देना होगा। साथ ही उन्हें मेहनत करने के लिए मजबूर करना होगा।’’ टूर्नामेंट में पहली बार खेल रही जमशेदपुर के 11 मैचों में 16 अंक के साथ तालिका में पांचवे स्थान पर हैं और पुणे को हरा कर वह शीर्ष चार में आ जाएगी। टीम की प्रगति से काफी संतुष्ट कोच ने कहा, ‘‘पुणे के साथ मैच को लेकर मैं काफी उत्साहित हूं। हम पुणे से सिर्फ तीन अंक पीछे हैं।’’ जमशेदपुर के प्लेऑफ में जाने के लिए प्रतिस्पर्धा काफी मुश्किल हो गई है, लेकिन कोपेल का मानना है, ‘‘शीर्ष चार में अभी सभी टीमें जा सकती हैं। हम उन टीमों में से एक हैं।’’

1
Back to top button