छत्तीसगढ़

पुनिया क्या पूरी कांग्रेस बस्तर आकर देख ले ऐसे होता है विकास : रमन

रायपुर । सिर्फ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया ही नहीं पूरी कांग्रेस बस्तर आकर देख ले, घूम ले और सीख ले ऐसे होता है विकास। बस्तर में भाजपा ने लिखी है विकास की परिभाषा। उक्त बातें शुक्रवार को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जगदलपुर में हुए बोनस तिहार कार्यक्रम में कही। मुख्यमंत्री ने बस्तर के 16 हजार 200 किसानों के खातों में लेपटाप का बटन दबाकर 25 करोड़ 36 लाख रुपए की बोनस की रकम डाली। इसके अलावा करोड़ों रुपए के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया।
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने आगे कहा कि, बस्तर के दंतेवाड़ा जिले से कौशल उन्नयन योजना का शुरुआत हुई और आज इस योजना से पूरा प्रदेश लाभान्वित हो रहा है। बस्तर को एजुकेशन का हब बनाया जा रहा। यहां से बच्चे उच्च शिक्षा की ओर अग्रसर हो रहे हैं। बस्तर के बच्चे आईपीएस, आईएस सहित अन्य पदों पर पहुंच चुके हैं। नारे लगाने वाले दंतेवाड़ा जाकर देखें क्या होता है विकास। बस्तर संभाग में 7 जिलों का निर्माण कर विकास की गाथा लिखी गई और आने वाले समय में यह नक्सल प्रभावित क्षेत्र विकास के उच्च शिखर में होगा। उन्होंने कहा कि, कांग्रेस ने तो बस्तर को छत्तीसगढ़ के नक्शे से ही गायब कर दिया था। अब बस्तर में विकास की लहर दौड़ रही है। आने वाले समय में बस्तर हवाई और रेल कनेक्टिविटी से पूरे राज्य और देश से जुड़ेगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने बस्तर की ली सुध : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जिक्र कर कहा कि, प्रधानमंत्री बस्तर आए थे। प्रधानमंत्री ने दंतेवाड़ा के विकास को देखा। मुख्यमंत्री ने कहा कि, प्रधानमंत्री मोदी की मंशा के अनुसार अक्टूबर 2018 के पहले बस्तर के अंतिम छोर तक बिजली पहुंचेगी। कोई भी मजरा-टोला, गांव या अंतिम व्यक्ति इस योजना से अछूता नहीं रहेगा।

धान के बोनस के साथ तेंदूपत्ता के बोनस की सौगात : मुख्यमंंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि, अभी सरकार किसानों को धान का बोनस दे रही है। दीपावली के बाद मंत्रीगण बस्तर आएंगे और एक-एक तेंदूपत्ता संग्राहकों के खातों में तेंदूपत्ता के बोनस की राशि डाली जाएगी। उन्होंने तेंदूपत्ता तोडऩे वालों के लिए 270 करोड़ रुपए के बोनस की घोषणा की। उन्होंने कहा कि, लघु वनोपज की खरीदी की व्यवस्था पूरे प्रदेश में की जा रही है। उज्जवला योजना में अब तक यहां लगभग 50 हजार परिवार को गैस कनेक्शन मिला है, आने वाले समय में बस्तर के 1 लाख परिवार को गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य है।

बस्तर को मिली करोड़ों की सौगात : मुख्यमंत्री शुक्रवार सुबह साढ़े 11 बजे जगदलपुर पहुंचे। मुख्यमंत्री के साथ कैबिनेट मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, बृजमोहन अग्रवाल, दयालदास बघेल, महेश गागड़ा भी कार्यक्रम में शामिल थे। साथ ही शिक्षा मंत्री केदार कश्यप, बस्तर सांसद दिनेश कश्यप, विधायक संतोष बाफना, वन विकास निगम श्रीनिवास राव मद्दी, प्रदेश मंत्री किरण देव, जिलाध्यक्ष बैदूराम कश्यप, लछु राम कश्यप, कमल चंद्र भंजदेव, जबिता मंडावी के अलावा अन्य लोग मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने किसानों के खातों में बोनस डालने के बाद उन्हें बोनस प्रमाणपत्र वितरित किया। हाता ग्राऊण्ड मैदान में बोनस तिहार में मुख्यमंत्री ने बस्तर जिले के किसानों को 25.36.18 करोड़ रुपए का धान बोनस दिया। जिले की 37 समितियों की 59 उपार्जन केन्द्रों के 16 हजार 200 किसानों को धान बोनस मिला। मुख्यमंत्री ने यहां 66.82 करोड़ के विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। इनमें 17.07 करोड़ रुपए के विकास कार्य का लोकार्पण और 49.75 करोड़ के विकास कार्य का भूमिपूजन शामिल है। इसके अलावा यहां विभिन्न योजनाओं के तहत हितग्राहीमूलक सामग्री वितरित की गई।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *