पंजाब किंग्स की मजबूत बल्लेबाजी लेगी CSK की परीक्षा, धोनी की नजरें पहली जीत पर

एक ओर होगी तीन बार की चैंपियन महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) और दूसरी और केएल राहुल (KL Rahul) की कप्तानी वाली पंजाब किंग्स

आईपीएल 2021: (IPL 2021) में गुरुवार का मुकाबला दो विकेटकीपर कप्तानों की टीमों के बीच हुआ था, फैंस को शुक्रवार को भी ऐसा ही कुछ देखने को मिलेगा. शुक्रवार को लीग का आठवां मुकाबला खेला जाएगा जिसमें एक बार फिर दो टॉप विकेटकीपर बल्लेबाज कप्तानों के बीच जंग होगी. एक ओर होगी तीन बार की चैंपियन महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) और दूसरी और केएल राहुल (KL Rahul) की कप्तानी वाली पंजाब किंग्स. यूं तो चेन्नई सुपर किंग्स की टीम तीन बार खिताब जीत चुकी है वहीं दूसरी ओर पंजाब की टीम अब तक एक भी बार खिताब नहीं जीत पाई हैं. हालांकि पिछले सीजन में चेन्नई का प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा था. वहीं केएल राहुल की टीम पहले मैच में जीत के बाद काफी आत्मविश्वास के उतरेगी.

आईपीएल रिकॉर्ड की बात करें, तो चेन्नई सुपर किंग्स और किंग्स पंजाब के बीच अब तक 23 मुकाबले खेले गए हैं. चेन्नई को 14 मैचों में जीत मिली है, जबकि पंजाब को 9 मैचों में सफलता मिली इस दौरान एक मैच टाई हुआ था जिसमें पंजाब ने जीत हासिल की थी. पिछले सीजन की बात करे तो चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने दोनों ही मैचों में जीत हासिल की थी. पहले मैच में चेन्नई ने 10 विकेट से पंजाब को हराया था जबकि दूसरे मैच में उन्होंने नौ विकेट से जीत हासिल की थी. पिछले पांच मैचों में चेन्नई का पलड़ा भारी रहा, उसने 4 मैचों में पंजाब को मात दी है.

पंजाब किंग्स के लिए गेंदबाजी हैं चिंता

पंजाब के लिए चिंता का सबब उनकी बल्लेबाजी नहीं बल्कि गेंदबाजी है. युवा अर्शदीप सिंह ने आखिरी ओवर में उन्हें 13 रन नहीं बनाने दिए और महज आठ रन देकर टीम को जीत दिलाई. हालांकि उनके अलावा मोहम्मद शमी ने भी 33 रन देकर दो विकेट लिए लेकिन जे. रिचर्डसन और रिले मेरेडिथ महंगे साबित हुए. दोनों पर टीम ने कुल 22 करोड़ रुपये खर्च किए हैं ऐसे में उनसे उम्मीद काफी ज्यादा है.

पंजाब की टीम के लिए दीपक हुडा ने पिछले मैच में 28 गेंदों पर 64 रन बनाए थे. सलामी बल्लेबाज के तौर पर उतरे केएल राहुल ने 50 गेंद में 91 रन बनाए जबकि क्रिस गेल ने 28 गेंद में 40 और दीपक हुड्डा ने 28 गेंद में 64 रन का योगदान दिया. चेन्नई के खिलाफ हुडा के अलावा लोकेश राहुल, क्रिस गेल, निकोलस पूरन और शाहरूख जैसे बल्लेबाजों को प्रदर्शन करना होगा.

चेन्नई सुपर किंग्स को करनी होगी वापसी

वहीं वानखेड़े में हुए पिछले मुकाबले में चेन्नई के गेंदबाजों ने काफी संघर्ष किया था. रवींद्र जडेजा और मोइन अली भी गेंद से ज्यादा प्रभाव नहीं दिखा सके थे. मोइन की गेंद पर दो बार पृथ्वी शॉ का कैच भी छोड़ा गया था. चेन्नई के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को अच्छी शुरुआत दिलानी होगी. पिछले मुकाबले में सैम करेन ने अंत में 15 गेंदों पर 34 रन बनाए थे और टीम को लड़ने लायक स्थिति तक पहुंचाया था चेन्नई के गेंदबाज दिल्ली के बल्लेबाजों को रोक नहीं पाए थे और आसानी से रन लुटाए थे.

सुपरकिंग्स के 189 रन के लक्ष्य को दिल्ली ने सलामी बल्लेबाजों पृथ्वी शॉ और शिखर धवन के बीच शतकीय साझेदारी की बदौलत तीन विकेट गंवाकर हासिल कर लिया था. चेन्नई के कोच ने तब माना था कि उनके पास गेंदबाजी विकल्प अभी ज्यादा नहीं हैं. उन्होंने कहा, ‘एनगिडी जल्द ही पहुंचेगे.बेहरेनडोर्फ बेशक उसके बाद आएगा.गेंदबाजी विभाग में संभवत: हमारे पास विकल्प कम हैं.हमारी नजरें भारतीय गेंदबाजों पर है और हमारे पास अंतरराष्ट्रीय गेंदबाज के रूप में सैम करन है.’

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button