खेलबड़ी खबर

खाली स्टेडियम में खेलने को लेकर पीवी सिंधू ने दिया बड़ा बयान

कोविड19 के कारण मार्च से दुनिया भर की खेल प्रतियोगिताएं प्रभावित हुई हैं.

कोविड-19 महामारी: रियो ओलंपिक की सिल्वर मेडलिस्ट भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू का कहना है कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर खिलाड़ियों को खाली स्टेडियम में खेलने का आदी होना चाहिए जो नई सामान्य चीज होने वाली है.

कोविड19 के कारण मार्च से दुनिया भर की खेल प्रतियोगिताएं प्रभावित हुई हैं. इस महामारी के फैलने के कारण मार्च से दुनिया भर की खेल प्रतियोगिताएं प्रभावित हुई हैं. सिंधू ने भारत की पूर्व अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन खिलाड़ी अमिता सिंह के साथ एक वेबिनार में कहा, ‘लोग मैच देखने के लिए आने से डरेंगे और हमें दर्शकों के बिना खाली स्टेडियमों में खेलने की आदत डालनी चाहिए. ऐसा ही होगा.’

‘आपको किसी भी चीज के लिए तैयार रहना होगा’
वर्ल्ड चैंपियन शटलर सिंधू ने कहा, ‘इस स्थिति में यह सभी के लिए सुरक्षित होगा और आपको किसी भी चीज के लिए तैयार रहना होगा.’ सिंधू ने इस दौरान बताया कि किस तरह से उन्होंने साल 2015 में स्ट्रेस फ्रेक्चर से उबरकर रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था. चोट की वजह से वह 6 महीने तक कोर्ट से दूर रही थीं.

बकौल सिंधू, ‘ जब मुझे साल 2015 में स्ट्रेस फ्रेक्चर हुआ उसने मुझे बहुत दर्द दिया. मैं उसके बारे किसी को बताया नहीं. मैंने उस दर्द के बारे में अपने पापा को बताया और हम फिर एक्सरे के लिए गए. एक्सरे में स्ट्रेस फ्रेक्चर का खुलासा हुआ जो मेरे लिए अच्छा नहीं था.

मौजूदा कुछ समय से सिंधू का फॉर्म कुछ खास नहीं रहा है. ऐसे में उनकी कोशिश अब खोयी हुई फॉर्म को हासिल करने की होगी.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button