छत्तीसगढ़ से उड़ीसा तक नशीली दवा के कारोबार में लिप्त रैकेट का खुलासा

मनोज मिश्रा :

एक ट्रक नशीली दवाओं के साथ तीन आरोपी गिरफ्तार
महासमुंद :

जिले के बलौदा चौकी पुलिस ने एक ट्रक नशीली दवाईयों के साथ तीन लोगों को पकड़ा है. आरोपी नशीली दवा कारोबारी नशीली दवाएं रायपुर से ओड़िशा लेकर जा रहे थे. पकड़े गए दवाओं की कीमत करीब 16 लाख रुपए आंकी जा रही है.

आज शाम स्थानीय पुलिस कंट्रोल रूम में एएसपी देवव्रत सिरमौर ने मीडिया को दिए जानकारी मे बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग 53 से अवैध नशीली पदार्थ के परिवहन करने की सूचना पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह को मिल रही थी. पुलिस अधीक्षक ने हाईवे से लगे थाने चौकी प्रभारी एवं क्राइम ब्रांच की टीम को कार्रवाई के लिए निर्देशित किया था.

बीती रात मुखबिर की सूचना पर सराईपाली पुलिस की टीम हाईवे एवं टोल नाकों पर संदिग्ध वाहनों की चेकिंग कर रही थी, कि एक ट्रक क्रमांक ओडीएफ 5384 तेज गति से रायपुर से उड़ीसा पदमपुर के रास्ते जा रहा था.

पुलिस टीम ने सिरपुर चेकपोस्ट पर सराईपाली की ओर से आ रहे उक्त ट्रक को रुकवाया ट्रक की रफ्तार कम होते ही लाभ उठाकर ट्रक में सवार दो कूदकर फरार हो गए. वाहन की तलाशी पर 95 पेटी सिरप कीमत 16 लाख 3 हजार 600 रूपए जब्त किया गया. आरोपी विजय साहा रायगढ़, विरंची तराल ओड़िशा ने पूछताछ पर कफ सिरप से संबंधित दस्तावेज पेश नहीं किया.

आरोपी विजय ने बताया कि कफ सिरप डुमरतराई के मेडिकल व्यवसायी सुरेश रामानी (50) रायपुर से ला रहे थे. सिरमौर ने बताया कि मौके से ही एक टीम डुमरतराई के लिए रवाना की गई टीम ने सुरेश रामानी की औषधि वाटिका से उसी बैच की 5 कार्टून 800 नग स्कफ कप सिरप कीमती 84 हजार 400 रुपए बरामद की. व्यवसायी ने पूछताछ के दौरान फरार अारोपी बलांगीर ओडिशा निवासी दिनेश अग्रवाल को माल बेचना स्वीकार किया.

आरोपियों के खिलाफ नारकोटिक्स एक्ट की धरा 21 के तहत कार्रवाई करते हुए न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा जा रहा है. फरार आरोपियों की तलाश टीमों द्वारा की जा रही है. उपरोक्त संपूर्ण कार्रवाई एसपी संतोष सिंह के निर्देशन एवं एएसपी देवव्रत सिरमोर एवं अनुविभागीय अधिकारी राजीव शर्मा के मार्गदर्शन में सरायपाली थाना प्रभारी योगेश कुमार सोनी, बलौदा चौकी प्रभारी समीर डुंगडुंग, सउनि यादव एवं स्टाॅफ के द्वारा की गई.

Back to top button