राफेल डील: राहुल के आरोप पर दासौ सीईओ का बयान, कहा- मैं झूठ नहीं बोलता

दासौ एविएशन के सीईओ एरिक ट्रैपियर ने कहा कि मैं झूठ नहीं बोलता। मैंने पहले जो बयान दिया वो सच है

फ्रांस। राफेल लड़ाकू विमान सौदे का मामला गरमाता जा रहा है। इस मुद्दे पर जमकर राजनीति हो रही है। सौदे में घोटाले के दावे किए जा रहे हैं।

इस बीच राफेल सौदे पर कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी के भ्रष्‍टाचार के आरोप से जुड़े सवाल पर दसॉ एविएशन के सीईओ एरिक ट्रैपियर ने कहा है, ‘मैं झूठ नहीं बोलता।

मैंने पहले जो बयान दिया वो सच है और उस पर मैं कायम हूं। मेरी झूठ बोलने की छवि नहीं है। सीईओ के रूप में मेरी स्थिति में, आप झूठ नहीं बोल सकते हैं।’

एरिक ट्रैपियर ने ये बातें न्‍यूज एजेंसी एएनआइ को दिये इंटरव्‍यू में कही हैं। एनडीए सरकार पर राफेल सौदे को लेकर विपक्षियों ने आरोप लगाया है कि हर विमान को करीब 1,670 करोड़ रुपये में खरीद रही है,

जबकि यूपीए सरकार जब 126 राफेल विमानों की खरीद के लिए बातचीत कर रही थी तो उसने इसे 526 करोड़ रुपये में अंतिम रूप दिया था।

भारतीय वायुसेना इस सौदे से खुश

भारत में राफेल सौदे पर हो रही राजनीति पर तंज कसते हुए कहा, ‘देखिए, मैं जानता हूं कि इस रक्षा सौदे को लेकर कुछ विवाद हो रहे हैं और मैं यह भी जानता हूं कि यह वैसी घरेलू राजनैतिक लड़ाई जैसा है, जो चुनाव के आसपास बहुत-से देशों में होता रहता है।

लेकिन मेरे लिए जो अहम है, वो सच है और सच यह है कि यह बिल्कुल साफ-सुथरा सौदा है और भारतीय वायुसेना इस सौदे से खुश है। सौदे के अनुसार, भारतीय वायुसेना को राफेल की पहली डिलीवरी अगले साल सितंबर में की जानी है।

काम बिल्कुल वक्त पर चल रहा है। ऑफसेट पूरा करने के लिए हमारे पास सात साल का समय है। पहले तीन सालों में हम यह बताने के लिए बाध्य नहीं हैं कि हम किसके साथ काम कर रहे हैं।

30 कंपनियों के साथ समझौता किया जा चुका है, जो सौदे के मुताबिक पूरे ऑफसेट का चाली फीसद होगा। रिलायंस इस 40 में से 10 फीसद का साझेदार है।


Tags
Back to top button