राफेल डील पर स्कूली बच्चों की तरह की जा रही बहस – जेटली

राहुल गांधी की समझ पर उठाए सवाल

नई दिल्ली : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी पार्टी के अन्य नेताओं द्वारा लगातार ही राफेल डील को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र की बीजेपी सरकार पर सवाल उठाए जा रहे हैं। राहुल गांधी द्वारा राफेल डील को लेकर पीएम मोदी और बीजेपी के ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए जा रहे हैं। इन आरोपों के बीच अब वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को राहुल गांधी को जवाब दिया है। जेटली ने कहा है कि राहुल गांधी द्वारा राफेल डील पर स्कूली बच्चों की तरह बहस की जा रही है।

जेटली ने कहा, राफेल डील की कीमत को लेकर उनके द्वारा जो भी फैक्ट बताए जा रहे हैं, वह पूरी तरह से गलत हैं। राहुल गांधी ने खुद अपने कई भाषणों में इस डील को लेकर सात अलग-अलग कीमतें बताई हैं और वह इस डील पर किंडरगार्डन और स्कूली बच्चों की तरह बहस कर रहे हैं। जेटली ने कहा, ये कुछ इस तरह की बहस की जा रही है कि मैंने 500 रुपए अदा किए और उन्होंने 1600 रुपए कुछ दिए। ऐसे तर्क दिए जा रहे हैं, ये दिखाता है कि उनकी समझ कितनी कम है।

डील में किसी बिचौलिए का कोई रोल नहीं
इसके अलावा जेटली ने यह भी कहा कि उनकी सरकार ने राफेल डील की कीमत को 20 फीसदी कम करने के लिए बहुत मेहनत की है। साथ ही यह भी कहा कि यह डील दोनों देशों की सरकारों के बीच हुई, इसमें किसी बिचौलिए का कोई रोल नहीं था। जेटली ने कांग्रेस के ऊपर हमला करते हुए यह कहा कि अगर राहुल गांधी की पार्टी यह कह रही है कि यह डील देश के हित में नहीं है तो इसका सबूत भी दिया जाए। उन्होंने कहा, कोई भी जिम्मेदार राजनेता यह जानता है कि सरकार और सरकार के बीच हुआ कोई भी लेनदेन साफ सुथरा होता है। कोई भी सरकार रिश्वत नहीं देती। यह भारत सरकार और फ्रांस की सरकार के बीच हुआ लेनदेन है। हमने 2007 से ज्यादा अच्छा आॅफर दिया है।

Back to top button