राहुल द्रविड़: हार्दिक पंड्या के लिए फास्ट बॉलिंग ऑलराउंडर होना प्लस पॉइंट

>टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और मौजूदा अंडर-19 टीम के कोच राहुल द्रविड़ का मानना है कि भारतीय क्रिकेट में तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर की कमी के कारण हार्दिक पंड्या बहुत जल्दी सीनियर टीम में अपनी जगह मजबूत करने में सफल रहे, लेकिन वह अपने खास टैलेंट का अधिक से अधिक फायदा उठाने का श्रेय पाने के हकदार हैं

राहुल द्रविड़: हार्दिक पंड्या के लिए फास्ट बॉलिंग ऑलराउंडर होना प्लस पॉइंट

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और मौजूदा अंडर-19 टीम के कोच राहुल द्रविड़ का मानना है कि भारतीय क्रिकेट में तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर की कमी के कारण हार्दिक पंड्या बहुत जल्दी सीनियर टीम में अपनी जगह मजबूत करने में सफल रहे, लेकिन वह अपने खास टैलेंट का अधिक से अधिक फायदा उठाने का श्रेय पाने के हकदार हैं.

द्रविड़ ने कहा कि ‘तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर का होना भारतीय टीम के लिए हमेशा महत्वपूर्ण रहा है और पंड्या ने मौकों का पूरा फायदा उठाया है.’

निचले क्रम में करारे शॉट जमाने में माहिर 24 वर्षीय पंड्या अच्छी तेज गेंदबाजी भी कर लेते हैं और वह लिमिटेड ओवरों की क्रिकेट में भारतीय टीम के नियमित सदस्य हैं.

पंड्या ने 2016 में डेब्यू किया और उसके बाद 32 वनडे और 27 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 35 और 23 विकेट लिए. इसके अलावा उन्होंने कुछ उपयोगी पारियां भी खेली.

पीटीआई के मुताबिक द्रविड़ ने अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम की रवानगी से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘हार्दिक अपने टैलेंट के कारण टीम में आया है. वह ऐसा खिलाड़ी है जिन्होंने खुद को साबित किया है और वह ऐसा है जिसके पास यह विशिष्ट गुण है.’

द्रविड़ ने कहा, ‘जब आप भारत में तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर होते हो तो फिर आपको चुनौती देने वाले कम होते हैं और यह वास्तविकता है.’ अंडर-19 वर्ल्ड कप 13 जनवरी से न्यूजीलैंड में खेला जाएगा.

टीम इंडिया की भाभी बनीं अनुष्का का युवराज ने रखा नया नाम

द्रविड़ ने कहा, ‘अगर आप इस देश में बल्लेबाज या स्पिन गेंदबाज हो तो चुनौती कड़ी होती है, क्योंकि आपको कई अन्य से प्रतिस्पर्धा करनी होती है. लेकिन तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर को आप उंगलियों में गिन सकते हो कि कितने तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर भारत में खेल रहे हैं.

advt
Back to top button