राहुल गांधी की बढ़ी मुश्किलें, पटना सीजेएम कोर्ट ने कहा- 20 मई तक करें सरेंडर

पटना : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ पटना सीजेएम कोर्ट ने सम्मन जारी किया है। बिहार के डिप्‍टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने 18 अप्रैल को राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया गया था। इसी को लेकर शनिवार को कोर्ट ने समन जारी किया है। कोर्ट ने राहुल गांधी को 20 मई या उससे पहले उपस्थित होने को कहा है।

पटना सीजेएम शशिकांत राय ने डिप्टी सीएम के शपथपत्र पर दिए गए बयान और राहुल गांधी के भाषण की सीडी देखने के बाद आइपीसी की धारा 500 के तहत समन जारी करने का आदेश दिया। कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिए रिकॉर्ड को एसीजेएम- प्रथम कुमार गौरव की अदालत में भेजने का आदेश दिया है। सीजेएम कार्यालय ने राहुल के खिलाफ समन जारी कर दिया है। आत्मसमर्पण की तारीख 20 मई तय की गई है। वे चाहें तो पहले भी सरेंडर कर सकते हैं।

दरअसल शुक्रवार को राहुल गांधी पर हुए मानहानि के मुकदमे में सीजेएम कोर्ट ने सुनवाई करने के बाद आदेश को सुरक्षित रख लिया। कोर्ट में सुशील मोदी कल उपस्थित हुए थे और शपथ पत्र दाखिल कर अपना बयान दर्ज कराया था। इस मामले में सुशील मोदी की ओर से तीन गवाह संजीव चौरसिया, नितिन नवीन व मनीष कुमार हैं।

डिप्‍टी सीएम सुशील मोदी ने शुक्रवार को सीजेएम शशिकान्त राय की कोर्ट में उपस्थित होकर अपना बयान दर्ज कर बताया था कि बेंगलुरु के नजदीक 13 अप्रैल को राहुल गांधी ने चुनावी सभा में कहा था कि मोदी टाइटिल वाले चोर होते हैं। राहुल के इस बयान से भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच मेरे प्रति गलत संदेश गया है। समाज में मेरी प्रतिष्ठा गिरी है।

Back to top button