राहुल को कारण बताओ नोटिस के जवाब के लिए मिली मोहलत

नई दिल्ली : चुनाव आयोग ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अप्रामाणिक तथ्यों के आधार पर बयान देने के मामले में जवाब के लिए शुक्रवार शाम तक की मोहलत दे दी।

उल्लेखनीय है कि 23 अप्रैल को मध्य प्रदेश के शहडोल में चुनावी सभा के दौरान राहुल ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार एक ऐसा कानून लेकर आई है जो आदिवासियों को गोली मारने की इजाजत देती है। इस मामले में एक मई को चुनाव आयोग ने राहुल गांधी को कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

आयोग के अनुसार, अप्रामाणिक तथ्यों के आधार पर राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी पर आरोप लगाना आचार संहिता के उल्लंघन की श्रेणी में आता है।

राहुल ने गत शुक्रवार को आयोग से जवाब के लिए सात मई तक की मोहलत मांगी थी। इसके बाद मंगलवार को भी उन्होंने जवाब देने के लिए चुनाव आयोग से सप्ताहांत तक का समय मांगा था।

Back to top button