अमेठी में राहुल को मिली हार और ट्विटर पर ट्रोल हो गए नवजोत सिद्धू

नई दिल्ली : कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को उनका चुनावी भाषण भारी पड़ गया है। वे इस दौरान कुछ ऐसा बोल गए कि वो आज ट्विटर पर ट्रोल हो रहे हैं। इस चुनाव के दौरान अप्रैल में एक जनसभा में सिद्धू ने ऐलान किया था कि अगर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी से हार जाते हैं तो वे राजनीति से संन्यास ले लेंगे।

गौरतलब है कि इस चुनाव का सबसे बड़ा सियासी उलटफेर अमेठी में देखने को मिला है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने किले को बचाने में असफल रहे हैं। हालांकि, अभी अमेठी से भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी की जीत की घोषणा नहीं हुई है, लेकिन राहुल ने हार स्वीकार ली है और स्मृति को बधाई भी दे दी है। अब अमेठी में राहुल की हार सिद्धू के लिए परेशानी का सबब बन गया है।

इस चुनाव के दौरान कांग्रेस ने उन्हें अपना स्टार प्रचारक बनाया था। इस दौरान एक चुनावी भाषण में उन्होंने कहा था कि स्मृति ईरानी अमेठी में को टक्कर नहीं दे रही हैं। अगर वे यहां से जीत दर्ज करती हैं तो वे राजनीति से संन्यास ले लेंगे।

ट्विटर एक यूजर ने लिखा, ‘नवजोत सिद्धू फिर से लाफ्टर शो में वापस आ जाइए, यही आपकी असली जगह है। मुझे पता है कि वे जो बोलते हैं वो करते है … अब आप राजनीति छोड़ दीजिए।

एक और यूजर ने लिखा जैसा कि आप ने कहा कि अगर राहुल अमेठी से हार जाते हैं तो आप राजनीति से इस्तीफा दे देंगे, समय आ गया है। हम आपके इस्तीफे का इंतजार कर रहे हैं।

नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर पार्टी में पहले से ही स्थिति खराब है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से विवाद के मामले में उनके समर्थन में तो कोई नहीं आ रहा है, अलबत्‍ता उनका विरोध पार्टी और कैबिनेट में बढ़ता जा रहा है। सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने वाले मंत्रियों की संख्‍या भी बढ़ती जा रही है। अब तक छह मंत्रियों ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कैप्‍टन अमरिंदर सिंह की पत्‍नी परनीत कौर ने भी सिद्धू पर हमला किया है। इसके अलावा पंजाब में हार का ठीकरा भी उनपर ही फोड़ा जा रहा है। अमरिंदर सिंह राज्य में हार का जिम्मेदार उन्हें ठहरा दिया है।

Back to top button