Uncategorizedछत्तीसगढ़

राहुल का प्रवास और माओवादी भय से टली सुनवाई

टीएमटीडी आयोग के अध्यक्ष व गवाह दोनों नहीं पहुंचे

– अनुराग शुक्ला

जगदलपुर. ताड़मेटला मोरपल्ली, तिम्मापुरम और दोरनापाल में 11 से 15 मार्च के बीच गांवों में हुई आगजनी को लेकर चल रही विशेष जांच आयोग टीएमटीडी में शुक्रवार को होने वाली सुनवाई गवाहों और आयोग के अध्यक्ष के नहीं आने से टल गई। आने वाली सुनवाई की तिथि निर्धारित नहीं हो सकी है। बताया गया कि सुनवाई के दौरान एक तरफ जहां कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी का बस्तर प्रवास आड़े आया वहीं गवाहों को भेजे गए नोटिस को तामिल करने की बात कहते सुकमा प्रशासन ने माओवादियों के शहीदी सप्ताह का हवाला देते ग्रामीणों के नहीं आने की जानकारी दी है। इससे पहले भी आयोग की सुनवाई दो बार गवाहों के नहीं आने से टल चुकी है। यहां खास बात यह है कि आयोग के अध्यक्ष जस्टिस टीपी0 शर्मा ने खुद ही डीजीपी व प्रमुख सचिव को इस बात से अवगत करवाया है कि आयोग की सुनवाई गवाहों के नहीं पहुंचने से बाधित हो रही है। सुकमा जिला प्रशासन इस मामले में गवाहों को लाने और नोटिस को तामिल करवाने में सजगता नहीं दिखा रही है। इस बाद प्रशसानिक तौर पर सुकमा प्रशासान को निर्देश जारी किया गया था। मालूम हो कि आगजनी की घटना में करीब तीन सौ घरों को आग के हवाले किया गया था। इस घटना में एक तरफ जहां यह आरोप है कि फोर्स ने घटना को अंजाम दिया वहीं दूसरी ओर इस घटना को माओवादी की करतूत बताया जा रहा है। इसके चलते पीडित पक्ष और चश्मदीदों का बयान दर्ज किया जा रहा है। विशेष जांच आयोग में अब तक करीब 40 गवाहों के बयान नहीं हो सका है।

Back to top button