नमो ऐप पर राहुल का तंज- मैं नरेंद्र मोदी, आपके सारे डेटा अमेरिकी कंपनियों के अपने दोस्तों को देता हूं

पीएमओ का पलटवार-राहुल और कांग्रेस को नहीं है टेक्नोलॉजी की जानकारी

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी की तरफ से हैंडल किए जा रहे नमो ऐप को लेकर घमासान मचा हुआ है। कांग्रेस ने नमो ऐप की मदद से भारतीयों के निजी डेटा को लीक करने का आरोप लगाया है। सोशल मीडिया पर #DeleteNaMoApp कैंपेन भी चलाया गया। अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मुद्दे को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा है।

राहुल गांधी ने तंज कसते हुए कहा है कि मैं नरेंद्र मोदी, आपके सारे डेटा अमेरिकी कंपनियों के अपने दोस्तों को देता हूं। दरअसल आरोप लगाया जा रहा है कि नमो ऐप का इस्तेमाल करने वाले लोगों की निजी जानकारियां बगैर उनकी मंजूरी के अमेरिकी कंपनी को साझा की जा रही हैं।

ध्यान भटकाने के लिए ऐसा कर रहे हैं राहुल गांधी

राहुल गांधी के इस आरोप पर प्रधानमंत्री कार्यालय ने पलटवार किया है। पीएमओ की तरफ से कहा गया है कि राहुल गांधी और कांग्रेस को टेक्नोलॉजी की जानकारी नहीं है। पीएमओ ने कैंब्रिज एनालिटिका को डेटा चोरी करने के लिए कांग्रेस का ब्राह्मास्त्र बताया है।

साथ ही कहा है कि राहुल इस खुलासे से ध्यान भटकाने के लिए ऐसा कर रहे हैं। पीएमओ की तरफ से ये दलील भी दी गई कि मीडिया हाउस भी अपने ऐप के लिए थर्ड पार्टी सर्विस का इस्तेमाल करते हैं। ताकि वो अपने पाठक तक अच्छे से खबरें पहुंचा सकें।

ऐप के बारे में सफाई

पीएमओ ने बताया कि नरेंद्र मोदी ऐप एकदम अलग किस्म का ऐप है, जो किसी भी यूजर को ‘गेस्ट मोड’ में आने की परमिशन भी देता है। यानी कोई भी व्यक्ति इस ऐप पर एक मेहमान की तरह भी आ सकता है। ऐसे में ऐप के इस्तेमाल पर किसी प्रकार की अनुमति या डेटा देने की जरूरत नहीं होती है।

हालांकि, पीएमओ ने ये भी बताया कि विशेष परिस्थितियों में जानकारी मांगी जाती है। पीएमओ ने उदाहरण देते हुए बताया, ‘अगर कोई सेल्फी कैंपेन का हिस्सा बनना चाहता है तो उसके लिए फोटो शेयर करने की जरूरत होती है।

साथ ही अगर कोई व्यक्ति अपनी ईमेल आईडी, जन्मतिथि की जानकारी देता है तो उसे पीएम मोदी की तरफ से बधाई संदेश भेजा जाता है। पीएमओ ने बताया कि ऐप के हर अलग फंक्शन से संबंधित जुड़ी जानकारी ही मांगी जाती है। जबकि, ऐप शुरू होने पर कोई जानकारी नहीं मांगी जाती है।

advt

Back to top button