रायगढ़ पुलिस की कमान, अब अभिषेक मीणा के हाथों में… आधिकारिक तौर से किया पदभार ग्रहण… कही अहम बातें… जानिए उनके बारें में और भी बहुत कुछ

आज से आधिकारिक तौर पर रायगढ़ पुलिस की कमान एसपी अभिषेक मीणा ने संभाल ली है। दोपहर 2 बजे के समीप पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पूर्व रायगढ़ एस पी संतोष सिंह के द्वारा उन्हें कार्यभार सौंपा गया।

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

रायगढ़। आज से आधिकारिक तौर पर रायगढ़ पुलिस की कमान एसपी अभिषेक मीणा ने संभाल ली है। दोपहर 2 बजे के समीप पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पूर्व रायगढ़ एस पी संतोष सिंह के द्वारा उन्हें कार्यभार सौंपा गया।

वही रायगढ़ पुलिस मुख्यालय में अपने नए कप्तान के स्वागत हेतु तमाम आलाधिकारियों की मौजदूगी रही। इसी क्रम में अभिषेक मीणा को सबसे पहले गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया गया। जिसके बाद उन्होंने एक के करके सबसे परिचय लेना प्रारंभ किया।
जिसके बाद अभिषेक मीणा ने विभागीय रूप से कमान संभालने के बाद औपचारिक रूप से मीडियाकर्मियों से मुलाक़ात की। जिसमें उन्होंने से कुछ मीडियाकर्मियों के द्वारा कुछ सवाल भी पूछे गए। जिसे बड़ी ही बखूबी से उतर देते हुए। अपनी कठिन कार्य इक्षा शक्ति प्रदर्शित की उनका कहना था कि “रायगढ़ के लोगो को सुरक्षित माहौल देने के साथ,अपराध पर हर तरीके से लगाम लगाना उनकी पहली प्राथमिकता होगी।”रायगढ़ पुलिस की कमान, अब अभिषेक मीणा के हाथों में… आधिकारिक तौर से किया पदभार ग्रहण… कही अहम बातें… जानिए उनके बारें में और भी बहुत कुछ

वही एक सवाल सड़क दुर्घटनाओं से सम्बंधित पूछा गया तो उनका जबाब था। “कोरबा जिले में जो हादसों को रोकने के लिए जो उपाय किये गए थे वो यहाँ भी अपनाये जाएंगे।

नक्सली ऑपरेशन्स:

वे जवानों के साथ स्वयं फिल्ड पर निकालते थे एक आंकड़ा अनुसार 7 महीनों में 45 से अधिक नक्सलियों को मार गिराने में उनकी अहम भूमिका थी वे उस समय सुकमा के एसपी थे। नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन एसपी मीणा के नेतृत्व में ऑपरेशन प्रहार लॉन्च किया गया था जो नक्सलियों के खिलाफ अब तक का सबसे सफल ऑपरेशन माना जाता है बस्तर संभाग में अलग अलग जिलों के एसपी के रूप में कार्य कर चुके अभिषेक मीणा से नक्सली खौफ़ खाते थेरायगढ़ पुलिस की कमान, अब अभिषेक मीणा के हाथों में… आधिकारिक तौर से किया पदभार ग्रहण… कही अहम बातें… जानिए उनके बारें में और भी बहुत कुछ

जिसके वजह से नक्सलियों ने अभिषेक मीणा के खिलाफ जानलेवा षड्यंत्र रचते हुए बारूदी सुरंग के जरिए उन्हें निशाना बनाने की साज़िश थी लेकिन जिस जगह विस्फोट हुआ था, वहीं से 15 मिनट पहले ही सुकमा एसपी अभिषेक मीणा और एडिशनल एसपी सुमन सौरभ बाइक पर निकले थे। उनके जाने के कुछ ही देर बाद एमपीवी रवाना हुई जो विस्फोट का शिकार बन गई थी।

उपलब्धियां:

आईपीएस अभिषेक मीणा को कोरबा एसपी रहते हुए। राष्ट्रीय गैलेंट्री अवार्ड 2020 से सम्मानित किया गया था। यह अवॉर्ड उन्हें बस्तर संभाग के विभिन्न जिलों में एसपी रहते नक्सलियों से मोर्चा लेने व उनके खिलाफ सफल ऑपरेशन चलाए जाने के कारण दिया गया था। यह एक राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार हैं। जो नगण्य गिने चुने उन अफसरों को दिया जाता है। जिन्होंने विभिन्न मोर्चो पर अदम्य साहस व पराक्रम दिखाया हो। अभिषेक मीणा बस्तर संभाग में विभिन्न जिलों में एसपी रहते हुए जो साहस व पराक्रम दिखाया था उसके लिए उन्हें इस सम्मान से नवाजा गया था।

Tags
Back to top button