छत्तीसगढ़

बेटी के जन्म पर अब स्वास्थ्य केंद्रों में लगाई जाएगी तस्वीर

रायगढ़ । बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत सीएचसी एवं पीएचसी में बेटी के जन्म पर मां एवं बेटी की फोटो लगाए जा रहे हैं। वहीं 100 बेटी के जन्म होने पर जिले के सभी विकासखंडों के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में बालिका जन्मोत्सव मनाया जाएगा।

कलेक्टर शम्मी आबिदी ने कहा कि जिले में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ तहत बालिका लिंगानुपात बढ़ाने प्रशासन प्रयास कर रहा हैं।

विशेषकर जनसामान्य को जागरूकता करने विशेष पहल की गई है।

कलेक्टर ने स्वास्थ्य अधिकारियों को सभी सीएचसी, पीएचसी, जिला अस्पताल एवं मेडिकल कॉलेज में गुड्डा-गुड्डी बोर्ड में मां एवं नन्हीं बच्चियों की फोटो लगाने के निर्देश दिए है। रायगढ़, धरमजयगढ़ एवं बरमकेला विकासखंडों में इसकी शुरुआत हो चुकी है, ताकि लोगों में बेटे एवं बेटी का भेदभाव दूर हो और वह अपनी बालिकाओं को अच्छी शिक्षा एवं परवरिश दे सके।

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत बालिका के जन्म होने पर उसकी माता को फोटो एवं ग्रीटिंग कार्ड देकर प्रोत्साहित किया जाएगा। कन्या भू्रण हत्या की रोकथाम के लिए सोनोग्राफी सेंटर में एक्टिव ट्रेकर मशीन लगाई गई है।

जिससे लिंग परीक्षण पर रोक लगी है और लिंग परीक्षण के केस की पूरी जानकारी प्रशासन को मिलने लगी है। जनसामान्य में अब बेटियों की शिक्षा एवं परवरिश के प्रति चेतना पैदा हो रही है और नजरिये में सकारात्मक परिवर्तन दिखाई दे रहा है।

Tags
Back to top button