रेल हादसा : अनाथ बच्चों को सिद्धू करेंगे अडॉप्ट, स्वयं उठाएंगे पूरा खर्च

पहला वचन था: अमृतसर में ही रहूंगा, अब यह मेरा दूसरा बड़ा वचन

अमृतसर:

अमृतसर में हुए रेल हादसे के बाद पंजाब के स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी बीवी ने हादसे में जितने भी बच्चे अनाथ हुए हैं उन सभी को अडॉप्ट करने का ऐलान किया हैं।

उन्होंने कहा कि ये सभी बच्चे अनाथ नहीं कहलाएंगे, बल्कि जब तक वह जीवित हैं, तब तक इन बच्चों की परवरिश के साथ-साथ उनकी पढ़ाई-लिखाई का सारा खर्च करेंगे। सिद्धू ने कहा कि अपने जीवित रहते हुए वह इन परिवारों के घरों के चूल्हे भी कभी बुझने नहीं देंगे।

सिद्धू ने कहा कि अपने राजनीतिक जीवन में इससे पहले उन्होंने लोगों को यह वचन दिया था कि वह मरते दम तक गुरु नगरी अमृतसर को छोड़कर नहीं जाएंगे। यहीं अपनी पक्की रिहायश रख लोगों की सेवा करेंगे।

तभी से वह यहां रह रहे हैं। वह राजनीतिक जीवन में अपना दूसरा बड़ा वचन कर रहे हैं जिससे वह कभी पीछे नहीं हटेंगे, बल्कि अपने वचन पर मरते दम तक कायम रहेंगे।

Back to top button