रेलवे ने दी 2 कॉलम की मंजूरी, अब काम में आएगी तेजी

अंकित मिंज

बिलासपुर।

रेल प्रशासन ने तिफरा फ्लाईओवर निर्माण के लिए रेलवे क्षेत्र में प्रस्तावित दो कॉलम के निर्माण के लिए एप्रूव्हल दे दिया है। उम्मीद की जा रही है कि अब 66 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन इस प्रोजेक्ट के निर्माण में गति आएगी हालाकि इसके बाद भी इसका निर्माण निर्धारित समयावधि में पूरा होना मुश्किल माना जा रहा है।

राजमार्ग पर रोज लग रहे जाम से हाईकोर्ट और राजधानी आवागमन में हो रही दिक्कत पर स्वतः संज्ञान लेते हुए हाईकोर्ट के जस्टिस ने पुलिस महानिरीक्षक को तलब कर जवाब.तलब किया था कि यातायात की व्यवस्था को दुरुस्त करने और आवारा मवेशियों की रोकथाम के लिए क्या व्यवस्था बनाई जा रही है।

शासन ने हाईकोर्ट की तल्खी के बाद आनन-फानन में नगरीय प्रशासन विभाग को संकरे ओवरब्रिज के सामानांतर 66 करोड़ की लागत से फ्लाईओवर ब्रिज का निर्माण शुरू करा दिया जिसका कार्य अभी जारी है, 1620 मीटर लंबा यह फ्लाईओव्हर 36 कॉलम पर खड़ा होगा।

बताया जाता है कि अभी तक 33 कॉलम खड़े कर लिए गए हैं, 3 कॉलम का कार्य बाकी है इनमें से 2 कॉलम का निर्माण रेलवे क्षेत्र में कराना है जो अभी तक अनुमति के कारण लटका हुआ था अब रेलवे ने अनुमति दे दी है। वहीं सिर्फ 1 कॉलम शहरी एरिया का है। रेल प्रशासन द्वारा 2 कॉलम के निर्माण के लिए अप्रूवल देने के बाद अब अफसर निर्माण कार्य में तेजी आने की उम्मीद की जा रही है।

ये कार्य हैं बाकी: शासन ने इस फ्लाईओवर के निर्माण कार्य के पूर्णता की अवधि मई 2019 तय की है, लेकिन अभी तक स्लैब का निर्माण कार्य भी पूर्ण नही हो सका है। कॉलम का कार्य पूर्ण होने के बाद पूरे कॉलम के ऊपर स्लैब की ढलाई की जानी है इसके बाद एप्रोच रोड, रेलिंग अन्य कार्य होने हैं। जिससे इस फ्लाईओव्हर का कार्य निर्धारित समयावधि में पूर्ण होने की उम्मीद दिखाई नहीं दे रही है।

advt
Back to top button