राज्य

राजस्थान में बरपा बारिश का कहर, 24 घंटों में 11 की मौत

सोमवार को जालोर और पाली जिले में एनडीआरएफ और सेना की टीम ने रेस्क्यू आपरेशन चलाकर 50 से ज्यादा लोगों की जान बचाई. राजस्थान में बारिश ने कहर बरपा दिया है. रेगिस्तानी इलाका तो मानो दरिया बन चुका है. वहीं खराब मौसम भी रेस्क्यू ऑपरेशन में रोड़ा बना हुआ है.

जालोर के सियाणा और अकोली में दर्जनों लोगों को रेस्क्यू किया गया. कई लोग पानी के तेज बहाव से बचकर पेड़ों पर बैठे हुए थे. जालोर के जिला कलेक्टर लक्ष्मी नारायण सोनी ने बताया कि गुजरात से आनेवाली नर्मदा नहर उफान पर है.

साथ ही सुंधामाता तटबंध के टूटने से पानी गांवों में फैल गया है. हालात ये है कि स्कूलों में प्रशासन ने छुट्टियां घोषित कर दी हैं.

जालोर के अलावा पाली में भी लागातार बारिश ने बाढ़ के हालात पैदा कर दिए हैं. जवाई बांध में करीब 49 फीट पानी भर गया है. जिले में सोमवार को दिन भर चले रेस्क्यू आपरेशन में धौला गांव से 50 लोगों को निकाला गया है.

हालांकि बरसात कम हुई, जिससे लोगों को राहत की उम्मीद है. वहीं पाली से सटे सिरोही जिले में भी बरसात की वजह से कई इलाके डूबे हुए हैं. आबूरोड में भाखरा क्षेत्र को जोड़नेवाले निचला गढ़ के पूट टूट जाने से गावों का संपर्क टूट गया है.

जोधपुर में सड़कें बनीं दरिया

जोधपुर में भी फिर से बारिश होने लगी है. रानीसर और पदम सर जलस्त्रोत का पानी बहकर शहर की सड़कों पर आ गया है. दुकानों और घरों में भी पानी घुस गया है.

बाड़मेर के रेगिस्तान में भी जनसैलाब

बाड़मेर जिले के रेतीले इलाकों में बारिश का सिलसिला जारी है. भारी बारिश के कारण नदी-नालों के जलस्तर में भी लगातार बढ़ोतरी हो रही है, जिससे नदी-नाले उफान पर हैं.

इसी के चलते जिला प्रशासन ने भी ग्रामीण इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया है और लोगों को नदी-नालों के के करीब न जाने की चेतावनी दी है.

सेना ने 31 लोगों को बचाया

भारतीय सेना की बैटल-X डिवीजन के जवानों ने पाली जिले के पावटा गांव में बाढ़ में फंसे 31 लोगों को बचाया. सेना ने राहत एवं बचाव कार्य के लिए कई टुकड़ियों को तैनात किया है. जिनके पास विशेष साजो-सामान और प्रशिक्षित जवान है.

राजस्थान के अलग-अलग इलाकों में पिछले 24 घंटे में बारिश की वजह से करीब 11 लोगों की मौत हो चुकी है. प्रतापगढ़, चुरु, उदयपुर, जोधपुर और नागौर में डूबने से बच्चों की मौत हुई है.

मौसम विभाग के अनुसार अगले चौबिस घंटों में राज्य में मानसून पूरी तरह से सक्रिय रहेगा.

Tags
Back to top button