राष्ट्रीय

केरल में बारिश थमी, बचाव कार्य जारी

मृतकों की संख्या 370 से पार चली गई है.

तिरुवनंतपुरम: केरल में लगातार बारिश से केरल का पूरा राज्य ग्रस्त हो गया है. मरने वालों को संख्या में बढ़ोत्तरी होकर 370 से पार चली गई है. राज्य में 724649 लोग 5645 शिविरों में रह रहे हैं। इडुक्की जिले में सबसे ज्यादा 43 लोगों ने अपनी जान गंवाई।

12 दिन से जारी बारिश रविवार को आखिर थम गई लेकिन बाढ़ प्रभावित इलाकों में हजारों लोग अब भी सुरक्षित निकाले जाने की आस लगाए हुए हैं। अलप्पुझा, त्रिशूर और एर्णाकुलम जिलों में कई लोग अपने घरों में फंसे हुए हैं जहां उनके पास भोजन और पानी की कोई व्यवस्था नहीं है।

सूत्रों ने बताया कि वरिष्ठ नागरिकों, महिलाओं और बच्चों सहित बड़ी संख्या में लोगों को इमारतों से एयरलिफ्ट किया गया, जबकि कई अन्य को सेना की नौकाओं, मछली पकडऩे वाले बड़े जहाजों और अस्थायी नौकाओं में बाहर निकाला गया।

मलप्पुरम में 28 और त्रिशूर में 27 लोगों की मौत हुई है। राजस्व अधिकारियों के मुताबिक अलप्पुझा जिले के चेंगानुर में कम से कम 5,000 लोग फंसे हुए हैं। 11 जिलों में ऑरेंज जबकि 2 जिलों के लिए यैलो अलर्ट जारी किया गया है। वहीं भारतीय मूल के अमरीकी सांसद राजा कृष्णामूर्ति ने केरल में मची भारी तबाही को ‘भयावह’ बताया।

मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने मीडिया को बताया कि बाढ़ का सबसे विनाशकारी चरण समाप्त हो चुका है। कई शहरों और गांवों में घुसे बाढ़ के पानी में गिरावट शुरू हो गई है। उन्होंने कहा, हमारी मुख्य चिंता लोगों का जीवन बचाने के लिए है। 1924 के बाद ऐसी विनाशकारी त्रासदी कभी नहीं आई।

Tags
Back to top button