Uncategorizedछत्तीसगढ़राज्यराष्ट्रीय

रायपुर / बृजमोहन अग्रवाल ने कहा- मोदी जी ने देश के विकास को दी नई राह

नरवा-गरवा-घुरवा-बाड़ी

रायपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार के एक साल पूर्ण होने के अवसर पर रायपुर जिला ग्रामीण के वर्चुवल रैली को सम्बोधित करते हूए पूर्व मंत्री एवं विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने जहां केन्द्र सरकार के एक वर्ष के कार्यकाल में हुए कार्यो एवं उपलब्धियों को रखा वही राज्य सरकार के नाकामियों को लेकर तीखा हमला करते हुए कहा कि इस सरकार को जनता की चिन्ता नही

इन्हें चिन्ता है तो सिर्फ कांग्रेस पार्टी, कांग्रेस कार्यकर्ता व अपनी स्वयं की चिंता है। छत्तीसगढ़ में लूटमार वाली सरकार है। किसानों के लिए राजीव गांधी अन्याय योजना लेकर आई है। सभा के पूर्व अग्रवाल एवं उपस्थितजनों ने चाइना बार्डर पर शहीद हुए जवानो को 2 मिनट मौन रह कर श्रधांजलि दी।

उन्होंने छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के युवा गणेश कुंजाम के शहादत को याद करते हुए कहा कि सीमा के रक्षा क लिए छत्तीसगढ़ क वीर जवान कही भी पीछे नही रहेंगे। कुंजाम ने छत्तीसगढ़ का माथा पूरे दुनिया में उंचा कर दिया है।

प्रधानमंत्री आवास योजना


बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना, जनधन खाते, धारा 370, राम मंदिर, नागरिकता संसोधन कानून, आयुष्मान योजना से 5 लाख तक ईलाज की व्यवस्था,

आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णो को 10 प्रतिशत आरक्षण, आतंकवाद के खिलाफ कठोर, कानून, प्रधानमंत्री सम्मान निधि 8.19 करोड़ किसानो को, 20 करोड़ महिलाओं के जनधन योजनान्तर्गत लाभ, खाद्य सुरक्षा के तहत् प्रतिमाह 5 किलो चावल व 1 किलो दाल निशुल्क

उज्जवला योजना के तहत् 6.8 करोड़ मुफ्त गैस सेलेण्डर सहित अनेक योजनाओं को लागू किया जिनका फायदा जनता को मिल रहा है। कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस सरकार को उखाड़ फेकने का आहवान किया।

नरवा-गरवा-घुरवा-बाड़ी

अग्रवाल ने कहा कि नरवा-गरवा-घुरवा-बाड़ी के फेल होने के बाद, नया योजना लांच कर दिया है-मुख्यमंत्री ने ‘‘रोका-छेेका’’ यह तो छत्तीसगढ़ के किसानो की पुरानी परम्परा ही है।

भूपेश बघेल सरकार के पास किसानो के फसल को जानवरो से बचाने का माद्दा/या कोई प्लान नही है। नरवा-गरवा-घुरवा-बाड़ी पूरी तरह फेल हो गया है। गोठानो में जानवरो के लिए चारा की व्यवस्था नही कर पायी है, सरकार।

गोठानो में जानवर नही है। और है तो भूख व ईलाज के आभाव में दम तोड़ रहे है।

श्री अग्रवाल ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस की यह सरकार लूटमार वाली सरकार है, पहली व आखिरी बार सत्ता समझ कर सब लूटपाट में लगे है।

सरकार ने 2500 रूपये क्विंटल में धान खरीदी का पूरा पैसा न देकर किसानो के पैसे में डाका डाला है। ओला वृष्टि, अतिवृष्ट, आंधी-तुफान पीड़ित किसानो को आज तक मुआवजा नही मिला है।

किसानो को धान की पूरी राशि ब्याज सहित एक ही किस्त में दिया जावे

किसानो को धान की पूरी राशि ब्याज सहित एक ही किस्त में दिया जावे। कांग्रेस ने किसानो के हक में डाका डाला है। प्रदेश सरकार ने करोना काल में घोषणा की कि हम किसानो को 10 हजार रूपये प्रति एकड़ राशि देंगे? कहा है यह राशि ?

कितने किसानो को दी गई यह राशि ? किसानो के हक के उनके फसल के बचत राशि को देकर न्याय योजना के नाम पर किसानो के साथ अन्याय कर रही है।

अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश अभूतपूर्व आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है, इसका प्रभाव यह कि कोई सरकार या राजा दिवालिया होने के कगार पर अपनी भूमि बेचती है।

यह सरकार भूमि बेचने के नाम पर जमीन का खेल, खेल रही है। प्रदेश में जमीन का जो बंदरबांट किया जा रहा है। उसके बाद सामुदायिक, सार्वजनिक व शासकीय उपयोग के लिए भूमि ही नही रहेगी। सरकार को चाहिए कि वे पहले इन सबके लिए भूमि आरक्षित करे, दर्ज करे फिर बाकी जमीन को बिक्री हेतु विचार करे।

गांव-गांव में बिजली कटौती हो रही

अग्रवाल ने कहा कि भाजपा सरकार ने बालिकाओं की दर्ज संख्या बढ़ाने व शिक्षा के प्रति उनका ललक व उत्साह बढ़ाने सरस्वती सायकल योजना प्रांरभ की थी किन्तु यह सरकार शिक्षा सत्र समाप्ति तक टेंडर के खेल में उलझी रही।

टेंडर के खेल के चलते बच्चिायों केा पूरा शिक्षा सत्र बीत जाने के बाद भी सायकल नही मिला पायी है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ ने 15 साल जीरो पावर कट राज देखा है 24X7 पर आज क्या है ?

बिजली बिल हाफ करने के स्थान पर बिजली ही हाफ कर दी है ? प्रदेश अब हमेशा हमेशा के लिए पावर कट राज्य हो गया है। गांव-गांव में बिजली कटौती हो रही है।

प्रदेश में कोरोना से ज्यादा क्वारटाईन सेंटर में लोग मर रहे

नगर पालिक, नगर निगम, नगर पंचायत, जनपद पंचायतों में विकास कार्य ठप्प पड़े हुए है। विकास के नाम पर गांव-गांव, गली-गली दारू की नदियाँ ही बह रही है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना से ज्यादा क्वारटाईन सेंटर में लोग मर रहे है। आत्म हत्या का केन्द्र बन गए है। सर्प-बिच्छू काटने के केन्द्र बन गए है। दारू के अड्डे बन गए है।

पूरे प्रदेश में क्वारटाईन सेंटर अव्यवस्था के अड्डा बन गए है। सरकार के लिए भ्रष्टाचार केन्द्र बन गए है। अग्रवाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ पूछता है बेरोजगारी भत्ता का क्या हूआ ? महिला स्व सहायता समूहो के ऋण मुक्ति का कया हुआ।

2 साल के धान के बोनस का क्या हुआ? यह सरकार प्रदेश के जंगलो में विशाल काय हाथियों की रक्षा नही कर पा रही है। इस सरकार में जंगली जानवर तक सुरक्षित नही है। जंगल शिकारियों के शिकारगाह बन गए है। ये जंगल की रक्षा क्या करेंगे।

वर्चुवल सभा को सांसद सुनील सोनी व जिलाअध्यक्ष गुलाब टिकरहिया ने भी सम्बोधित किया।


वर्चुवल सभा में प्रमुख रूप से राजेश मूणत, भूपेन्द्र सिंह सवन्नी जी, राजीव अग्रवाल, सुनील सोनी जी, चन्द्रशेखर साहू जी, अशोक बजाज, श्याम बैस, गुलाब किरिहा, देवजी भाई पटेल, नवीन मार्कण्डेय, नंद कुमार साहू, संजय ढीढी, बालाराम वर्मा, दीपक मास्के, संजूनारायण सिंह ठाकुर, विजय गोयल, लक्ष्मी वर्मा, कृष्णा कुमार भारद्वाज, राजेन्द्र चन्द्राकर, बलराम तिवारी, बाबी कश्यप, नवीन अग्रवाल, शोभा यादव सहित प्रमुख पदाधिकारी, कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Tags
Back to top button