छत्तीसगढ़

रायपुर केपिटल राउंड टेबल संगठन दे रहा शिक्षा को बढ़ावा, 20 लाख की एफआईटी परियोजना को किया पूरा…

चार कमरों क ब्लॉक का उद्घाटन आज

रायपुर: रायपुर केपिटल राऊण्ड टेबल 241 युवक और युवतियों का एक संगठन है , जिसका मुख्य उद्देश्य अपन राष्ट्रीय प्रोजेक्ट के माध्यम से शिक्षा को बढावा द ना है । रायपुर कैपिटल राउण्ड टबल 241 पिछले आठ वर्षो से बाल शिक्षा को बढ़ावा द ने और उनक ‘ प्रमुख कार्यक्रम आन द मेला , पत ग उत्सव , ग्रूवेट भोजन उत्सव के माध्यम से हर साल धन ज टाने के लिए है । संगठन ने कई रक्तदान शिविर , वृक्षारोपण , स्वास्थय जॉच , विशेषाधिकार प्राप्त बच्चों के लिए मूवी शो , शिक्षा सुविधाओं का प्रावधान और सामग्री आदि का आयोजन किया है । आज आरसीआरटी 241 ने क म्हारी के ग्राम परसदा में 20 लाख रूपये की अन मानित लागत के एक स्कूल भवन की अपनी पहली एफआईटी परियोजना को पूरा करके एक मील का पत्थर हासिल किया । इस परियोजना को आईपीसी बजरंग गोयल की अध्यक्षता में शुरू किया गया था और सफलतापूर्वक अध्यक्ष अमित चुगानी और उनकी टीम द्वारा पूरा किया गया है । चार कमरों क ब्लॉक का उद्घाटन आज

एएटीए 3 एएसटी टीआर एएमआईटी जिंदल , आईपीएसी टीआर प्रतिक पिथालिया , एवीसी टीआर वेदांत अग्रवाल , एरिया प्रोजेक्ट क जर्वेटिव टीआर उत्तम अग्रवाल की उपस्थिति में किया गया । राष्ट्रीय गणमान्य व्यक्ति राष्ट्रीय सचिव टीआर सचिन शाह , न शनल वाईस प्रेसिडेंट टीआर मोर्या फिलिप , राष्ट्रीय परियोजना सह व्यापारी टीआर प्रहलाद केडिया , राष्ट्रीय परियोजना सह सलाहकार रचित बंसल , न शनल प्रोजेक्ट कन्वीनर नंदेश संचेती न भी इस समारोह में अपनी उपस्थिति दज कराई । आरसीआरटी 241 सदस्यों न स्क ल क कर्मचारियों , ग्राम प्रधान और निगम पार्षद के साथ नवनिर्मित शाला भवन में पूजा की । सभी उपस्तिथ गणमान्य व्यक्तियों न अपन गाँव को एक स्क ल भवन उपहार मे द ने और अपने बच्चों के लिए बेहतर सुविधाओं को सक्षम करन क लिए धन्यवाद दिया । स्क ल परिसर में वृक्षारोपण भी . किया गया । अध्यक्ष अमित चुगानी ने इस परियोजना क साथ आरसीआरटी 241 पर भरोसा करने क लिए स्कल प्रबंधन को धन्यवाद दिया । उन्होनें हमारे सभी पिछले प्रायोजकों और रायपुर के लोगों

करने के लिए स्कूल प्रबंधन को धन्यवाद दिया । उन्होनें हमारे सभी पिछले प्रायोजकों और रायपुर के लोगों को भी धन्यवाद दिया , जिन्होनसाल – दर – साल उत्साहपूर्वक हमारे उद्देश्यों का समर्थन किया जिसक कारण इस भवन का निर्माण हुआ । इस महामारी के दौर में इस परियोजना को सफलतापूर्वक पूर्ण करना आरसीआरटी 241 टीम के लिए एक बड़ी उपलब्धि के रूप में है । आरसीआटी 241 के युवा सदस्यों द्वारा यह स्मारकीय उपलब्धि दुनिया को एक बेहतर जगह बनाने के लिए उनकी प्रतिबद्धता को साबित करती है कि जहाँ इच्छा है वहाँ एक रास्ता है ।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button