छत्तीसगढ़

रायपुर शहर के 3 सुपर कॉप :: अमरेश – अजातशत्रु – विजय

खबरीलाल सुदीप्तो चटर्जी एक्सक्लूसिव

रायपुर : वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमरेश मिश्रा, आईपीएस जबसे कमान संभाले हैं तब से उन्होंने पूरे फोर्स में जान फूंक दिए हैं। उनके विज़न, कार्यशैली , व्यवहार और त्वरित निर्णय लेने की क्षमता के लिए समूचे छत्तीसगढ़ में उनका काफी नाम है। जब तक मुजरिम को जेल की हवा न खिला दे तब तक उनको चयन नहीं आता, यह खबरीलाल सुदीप्तो चटर्जी का अपना आंकलन है। उनका भरपूर साथ दिया पुलिस अधीक्षक क्राइम ब्रांच अजातशत्रु बहादुर सिंह एवं दबंग अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रायपुर शहर विजय अग्रवाल ने।

इन तीनों की तिकड़ी ने शराब कोचिये, गांजा बेचने वाले, अवैध धंधा करने वाले, फर्जीवाड़ा / धोकेदाड़ी करने वाले, कत्ल करने वाले, उठाईगिरी-चोरी करने वाले तथा आदि क्राइम करने वालों पे ऐसी नकेल कसी की सबकी हवा उड़ गई जिसमें तो कुछ जेल में बंद है और कुछ अपने बेल होने का इन्तेजार कर रहे हैं और बेल के लिए बड़े बड़े वकील के पीछे घूम रहे हैं। इन तीनों की तिकड़ी ने एक रसूखदार को जेल की हवा खिला दी और अब वे बेल हेतु छटपटा रहे हैं। इस रसूखदार को जो हाथ नहीं लगा पाए उनको इन तीनो सुपर कॉप ने मिलकर अन्य जांबाज पुलिस अधिकारियों के साथ मिलकर जेल की रोटी तोड़ने पर मजबूर कर दिए। 

खबरीलाल सुदीप्तो चटर्जी का मानना है कि इस कार्य हेतु तीनों सुपर कॉप का सम्मान होने के साथ साथ इनका अन्य विभाग या जिलों में ट्रांसफर न किया जाए जिससे वे सब मिलकर राजधानी रायपुर के क्राइम को पूरी तरह खत्म न कर दे / कम न कर दे। चूंकि रायपुर राजधानी हैं और यहां ऐसे ही सुपर कॉपों की अत्यंत जरूरत है। इनके कार्यशैली से जनता में कानून के प्रति भरोसा और ज्यादा बड़ गया है। आज प्रत्येक थाना चौकस रहता है और किसी भी तरह के कंप्लेन पर त्वरित कार्यवाही करने के साथ साथ कानून को अपने हाथ मे लेने वालों और कानून से खिलवाड़ करने वालों को जेल में रहने हेतु व्ययस्था कर रहे हैं।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *