छत्तीसगढ़राज्यराष्ट्रीय

रायपुर/ ई.एस.आई.सी. अस्पताल में भी होगा अब कोरोना मरीजों का होगा इलाज

कोविड अस्पताल संचालित करने का निर्णय

रायपुर। कोविड-19 के साथ ही नॉन-कोविड मरीजों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करा रहे रायपुर के डॉ. भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालय का भार कम करने भनपुरी स्थित कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC – Employee State Insurance Corporation) के नवनिर्मित अस्पताल में भी कोरोना संक्रमितों का इलाज किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस अस्पताल के संचालन के लिए निजी क्षेत्र के अस्पतालों से खुली निविदा आमंत्रित की गई थी। निविदा में सबसे कम दर का प्रस्ताव देने वाले गायत्री अस्पताल को इसके संचालन की जिम्मेदारी दी गई है।

डॉ. भीमराव अंबेडकर अस्पताल में अभी कोविड-19 के इलाज के साथ ही आई.सी.यू., ऑपरेशन थिएटर, कैंसर व हृदय रोग से संबंधित बीमारियों के उपचार तथा आपातकालीन सेवाएं संचालित की जा रही हैं। ये सेवाएं बाधित न हों और लोगों को लगातार नॉन-कोविड बीमारियों के इलाज की सुविधा मिलती रहे, इसके लिए ई.एस.आई.सी. अस्पताल को भी कोविड-19 के इलाज के लिए तैयार किया जा रहा है। डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना के अंतर्गत शासन द्वारा दर निर्धारित कर निजी क्षेत्र के अस्पतालों को भी कोविड-19 के उपचार हेतु इम्पैनलमेंट के लिए आमंत्रित किया गया है।

कोविड अस्पताल संचालित करने का निर्णय

केन्द्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा भनपुरी में सर्वसुविधायुक्त ई.एस.आई.सी. अस्पताल का निर्माण किया गया है। मानव संसाधन की कमी के कारण अभी इसे संचालित नहीं किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने खाली पड़े इस अस्पताल का अधिग्रहण कर यहां कोविड अस्पताल संचालित करने का निर्णय लिया है।

खुली निविदा के माध्यम से अस्पताल संचालन के लिए 1448 रूपए प्रति बिस्तर प्रतिदिन का सबसे कम दर का प्रस्ताव देने वाले गायत्री अस्पताल द्वारा शीघ्र इसका संचालन किया जाएगा। गायत्री अस्पताल द्वारा यहां लक्षणरहित और हल्के लक्षण (Asymptomatic & Mildly Symptomatic) वाले कोविड-19 के मरीजों के इलाज, दवाई, डॉक्टरों एवं अन्य स्टॉफ की सेवाएं, मरीजों को भोजन, साफ-सफाई, सुरक्षा, मेडिकल स्टॉफ के संक्रमण से बचाव और रोकथाम तथा विभिन्न चिकित्सा उपकरणों एवं लॉजिस्टिक्स की व्यवस्था की जाएगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button