राज बब्बर ने दिया अपने पद से इस्तीफा

लखनऊ : उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. हालांकि अभी उनके इस्तीफे की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन पार्टी सूत्रों ने कहा है कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया है. राज बब्बर के इस्तीफे के साथ कई और प्रदेश कमेटियों के अध्यक्षों के इस्तीफे की भी खबरें हैं. कुछ इसी तरह की खबर एक दिन पहले सोमवार को गुजरात इकाई के अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी बारे में भी उड़ी थीं, लेकिन बाद में उन्होंने इस खबरों को कोरी अफवाह बताया.

आधिकारिक पुष्टि नहीं : न्यूज एजेंसी एएनआई ने अपने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि राज बब्बर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. इस बारे में ना तो अभी तक खुद राज बब्बर ने और ना ही कांग्रेस ने कोई पुष्टि की है. हालांकि पार्टी सूत्र दावा कर रहे हैं कि संगठन में बदलाव के मद्देनजर ऐसा किया जा रहा है. बताया गया है कि राज बब्बर के इस्तीफे को अभी स्वीकार नहीं किया गया है और जब तक पार्टी आलाकमान कोई फैसला नहीं ले लेते, राज बब्बर पहले की तरह अपनी जिम्मेदारी निभाते रहेंगे.

राहुल गांधी ने दिए थे बदलाव के संकेत : बता दें कि नई दिल्ली में दो चले कांग्रेस महाअधिवेशन के समापन भाषण में राहुल गांधी ने संगठन में बदलाव के संकेत दिए थे. उन्होंने कहा था कि हमारे जमीनी कार्यकर्ता और नेताओं के बीच एक दीवार खड़ी है, जिसे अब गिराना होगा. उन्होंने साफ कहा कि आने वाले चुनावों में जमीनी कार्यकर्ता को टिकट दिया जाएगा, पैराशूट नेता को नहीं. उन्होंने कहा था कि संगठन में बड़े बदलाव किए जाएंगे.

2016 में बनाए गए थे प्रदेश अध्यक्ष : जुलाई में राज बब्बर को प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था. उनके साथ प्रदेश इकाई में चार वरिष्ठ उपाध्यक्ष भी बनाए जिनमें इमरान मसूद शामिल थे. तीन बार लोकसभा सदस्य रहे बब्बर उत्तराखंड से राज्यसभा सदस्य हैं. वह पहले भी राज्यसभा के सदस्य रह चुके हैं. यूपी चुनावों को देखते हुए राज बब्बर को उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी दी गई थी, लेकिन चुनावों में कांग्रेस का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था. उन्होंने इस हार के लिए खुद को जिम्मेदार मानते हुए इस्तीफे की पेशकश की थी.

गुजरात अध्यक्ष के बारे में भी उड़ी थी खबर : सोमवार को गुजरात प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी के बारे मे भी मीडिया में इस्तीफे की खबरें चलती रहीं, लेकिन देर शाम खुद सोलंकी ने इस खबरों को आधारहीन बताते हुए इस्तीफे की बात को कोरी अफवाह बताया था. सोमवार को सोलंकी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिले थे. मुलाकात के बाद ही चर्चा चल निकली कि राज्यसभा का टिकट नहीं दिए जाने से नाराज होकर सोलंकी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

advt
Back to top button