राज ठाकरे ने ‘उत्तर भारतीय मंच’ पर कहा क्यों लोग मेरी आलोचना करते है

-स्थानीय भाषा और संस्कृति का सम्मान करना चाहिए

Mumbai: महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे ने रविवार को उत्तर भारतीयों के एक संगठन ‘उत्तर भारतीय मंच’ की एक रैली को संबोधित करते हुये हिंदी में भाषण दिया और कहा की यहाँ उत्तर प्रदेश और बिहार से आये लोगो से मै ये पूछना चाहता हु की आप लोग अपने अपने नेताओ से अपने राज्यों के विकास और नौकरी के बारे में क्यों नहीं पूछते क्यों आप लोगो को बाहर आना पढता है.

उत्तर भारतीय मंच पर कहा मुंबई आने वाले लोगों में अधिकांश लोग यूपी, बिहार, झारखंड और बांग्लादेश से हैं. मैं सिर्फ यह चाहता हूं कि अगर लोग आजीविका की तलाश में महाराष्ट्र आ रहे हैं, तो उन्हें स्थानीय भाषा और संस्कृति का सम्मान करना चाहिए.

जब भी मैं अपना पक्ष रखता हूं जिससे यूपी और बिहार के लोगों के साथ विवाद हो जाता है, तो हर कोई मेरी आलोचना करता है. लेकिन हाल में गुजरात में बिहारी लोगों पर हुये हमलों के बाद, किसी ने भी बीजेपी से सवाल नहीं किया.

आज देश को वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जो वाराणसी से सांसद हैं सहित प्रधानमंत्री भी हैं. आप में से कोई उनसे नहीं पूछते कि क्यों राज्य औद्योगीकरण में पीछे छूट रहा है और क्यों वहां कोई रोजगार नहीं मिल रहा है.

Back to top button