छत्तीसगढ़

राजनांदगांव में साकार हो रहा है सर्वसुविधायुक्त मेडिकल कॉलेज का सपना: डॉ. रमन

-मुख्यमंत्री ने किया अटल बिहारी वाजपेयी स्मृति शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय भवन का लोकार्पण

रायपुर।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा के दौरान राजनांदगांव में अटल बिहारी वाजपेयी स्मृति शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय के नव निर्मित भवन के लोकार्पण समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज राजनांदगांव के लिए ऐतिहासिक दिन है। जब शहरवासियों का सर्वसुविधायुक्त मेडिकल कॉलेज का सपना साकार हो रहा है।

उन्होंने कहा कि राजनांदगांव शिक्षा, स्वास्थ्य और खेलों के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रहा है। एक दिन में इस शहर को 308 करोड़ रूपए की लागत के शासकीय मेडिकल कॉलेज भवन के साथ 54 करोड़ रूपए की लागत से नये स्वरूप में विकसित दिग्विजय स्टेडियम, 16 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित केन्द्रीय विद्यालय भवन और लगभग एक सौ करोड़ रूपए की लागत से रेलवे प्लेटफार्म और माल गोदाम सहित रेलवे स्टेशन में विकसित विभिन्न सुविधाओं की सौगात मिल रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनांदगांव जिले के निवासियों ने विधायक के रूप में मुझे जो जिम्मेदारी सौंपी थी, आज लग रहा है कि उसे पूरा करने में कुछ हद तक सफल हो पाया हूं। डॉ. सिंह ने कहा कि राजनांदगांव के मेडिकल कॉलेज में टाटा मेमोरियल इंस्टीट्यूट की मदद से कैंसर के मरीजों की स्क्रीनिंग की व्यवस्था की जाएगी और कैंसर के मरीजों का प्राथमिक उपचार भी यहीं कराने की व्यवस्था की जाएगी।

उन्होंने कहा कि इस मेडिकल कॉलेज में 500 सीटों वाले भव्य स्टेडियम सहित सभी अत्याधुनिक सुविधाएं आने वाले समय में विकसित की जाएंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ स्वशासी चिकित्सा महाविद्यालयीन शैक्षणिक आदर्श सेवा नियम 2018 लागू किया गया है, जिसमें महाविद्यालय की स्वशासी समिति की कार्यकारिणी समिति को महाविद्यालय के शिक्षकों की नियुक्ति और उनके वेतन भत्ते के भुगतान का अधिकार दिया गया है। इस नियम के लागू होने पर अब छत्तीसगढ़ के मेडिकल कॉलेजों में शिक्षकों की कमी नहीं होगी।

डॉ. सिंह ने पिछले 15 वर्षाें में प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार की जानकारी देते हुए कहा कि आज प्रदेश में मेडिकल कॉलेज की संख्या दो से बढ़कर एम्स सहित 10 हो गई है। नर्सिंग इंस्टीट्यूट की संख्या भी एक से बढ़कर आज चार दर्जन हो गई है। मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत प्रदेश के प्रत्येक परिवार को 50 हजार रूपए तक निःशुल्क इलाज की सुविधा दी जा रही है।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्रारंभ की गई दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सुरक्षा योजना आयुष्मान भारत योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि इस योजना में प्रदेश के लगभग 40 लाख गरीब परिवारों को पांच लाख रूपए तक निःशुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। समारोह को लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत, लोकसभा सांसद अभिषेक सिंह, राजनांदगांव नगर निगम के महापौर मधुसूदन यादव ने भी सम्बोधित किया। स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती निहारिक बारिक सिंह ने राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

Summary
Review Date
Reviewed Item
राजनांदगांव में साकार हो रहा है सर्वसुविधायुक्त मेडिकल कॉलेज का सपना: डॉ. रमन
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
jindal