आज से शुरू हो रहे राजस्थान विधानसभा का बजट सत्र हंगामेदार रहने की उम्मीद

इस बजट सत्र से पहले राज्यपाल का होगा अभिभाषण

जयपुर: राजस्थान सरकार का आज से पहला बजट सत्र शुरू हो रहा है। राज्य के मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री अशोक गहलोत से राजस्थान की जनता को काफी उम्मीदें हैं। इस बजट सत्र से पहले राज्यपाल का अभिभाषण होगा, जिसमें सरकार अपने पांच साल की दिशा और दशा तय करेगी।

बता दें कि राजस्थान में साल 2018 में कांग्रेस ने पांच साल बाद सत्ता में वापसी की है। इस बजट सत्र में किसानों पर विशेष ध्यान दिया जा सकता है। किसानों की कर्जमाफी से लेकर उनकी आय को बढ़ाने पर जोर दिया जा सकता है।

विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई

मुख्यमंत्री संभवतया 8 या 10 जुलाई को विधानसभा में बजट पेश करेंगे। विधानसभा सत्र प्रारंभ होने से पहले बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई। इस बैठक में जोशी ने मंत्रियों के शून्यकाल में विधानसभा में मौजूद रहने और मूल प्रश्नकर्ता द्वारा दो ही पूरक प्रश्न पूछे जाने की हिदायत दी।

उन्होंने कहा कि अन्य विधायकों को प्रश्न पूछने की इजाजत नहीं दी जाएगी। प्रत्येक दिन दो ध्यानाकर्षण प्रस्ताव सदन में लाए जाने की बात भी जोशी ने कही। उन्होंने कहा कि दो से अधिक ध्यानाकर्षण प्रस्ताव मंजूर नहीं किए जाएंगे। ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के माध्यम से विधायक अपने क्षेत्र अथवा प्रदेश से जुड़ा महत्वपूर्ण तात्कालिक मामला उठा सकते हैं।

उन्होंने नये विधायकों के लिए कार्यशाला आयोजित किए जाने की बात भी कही। उन्होंने मंत्रियों एवं विधायकों से सीमित संख्या में आगंतुकों को बुलाने की बात भी कही। सदन में विधायकों की मौजूदगी के लिए सभी दलों के मुख्य सचेतकों की जिम्मेदारी तय की गई है।

बैठक में देर रात तक सदन नहीं चलाने पर सहमति बनी। इसके लिए विभिन्न विभागों की अनुदान मांगों पर शाम छह बजे तक मंत्रियों के जवाब दिए जाने का भी निर्णय हुआ। बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल और भाजपा विधायक दल के उप नेता राजेंद्र राठौड़ सहित विभिन्न दलों के प्रतिनिधि शामिल हुए।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
Back to top button