राष्ट्रीय

राजस्थान सरकार का गौ संरक्षण में अग्रणी राज्य होने का दावा, 138 करोड़ खर्च किए

जयपुर: राजस्थान सरकार ने दावा किया कि राज्य गौवंश की देखभाल और गौशालाओं के विकास के लिए गोपालन विभाग का गठन करने के साथ ही नवाचार करने वाला देश का अग्रणी राज्य है. राजस्थान सरकार ने रविवार को जारी बयान में कहा कि गौवंश की बहुतायत वाले जालोर, सिरोही एवं पाली जिलों की 196 गौशालाओं को 21.24 करोड़ रुपये दे चुकी है. प्रदेश की पथमेड़ा समेत अन्य गौशालाओं को हाल ही में 5.03 करोड़ रुपये की सहायता दी गई है.उन्होने कहा कि गो संरक्षण, संवर्द्धन के लिए स्टाम्प ड्यूटी पर लगाये गये अधिभार के मद में गत वित्त वर्ष में 151 करोड़ साठ लाख रुपये मिले हैं और इनमें से 138 करोड़ 67 लाख रुपये खर्च किये जा चुके हैं.

अधिकारिक सूत्रों के अनुसार राज्य की 1036 गोशालाओं की 4,71,800 गोवंश को चारा-पानी एवं पशु आहार की व्यवस्था के लिए 126.89 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की गई है. साथ ही, 155 अन्य गोशालाओं के लिए भी 11.79 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की जा रही है. वर्ष 2015-16 के दौरान तस्करी तथा वध से बचाए चार हजार 449 गौवंश के पालन-पोषण के लिए 1.8 करोड़ तथा वर्ष 2016-17 के दौरान 4 हजार 611 गोवंश के लिए 1.6 करोड़ रुपये की सहायता प्रदान की गई है.

Tags
Back to top button