राजस्‍थान हाई कोर्ट ने मांगी वसुंधरा की ‘गौरव यात्रा’ पर हुए खर्च की जानकारी

- अगली सुनवाई 21 अगस्त को , पार्टी पदाधिकारियों से दस्तावेज तैयार करके आने को कहा

जयपुर :

राजस्थान उच्च न्यायालय ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नेतृत्व में चल रही राजस्थान गौरव यात्रा पर आने वाले खर्च के विवरण का हलफनामा दाखिल करने को कहा है। अदालत ने मामले की अगली सुनवाई 21 अगस्त को सूचीबद्ध कर दी है और पार्टी पदाधिकारियों से दस्तावेज तैयार करके आने को कहा है।

याचिकाकर्ता-अधिवक्ता विभूति भूषण शर्मा ने अदालत में एक जनहित याचिका दाखिल की थी और हाल ही में राज्य सरकार द्वारा एक अगस्त को लोक निर्माण विभाग को यात्रा व्यवस्था के लिए तैयारी करने के दिए आदेश पर सवाल उठाया था। याचिका में यात्रा के दौरान सरकारी खर्च की जांच की मांग की गई है।

याचिका को मुख्य न्यायाधीश प्रदीप नंदराजोग की अदालत में 10 अगस्त को रखा गया था। अदालत ने राज्य भाजपा अध्यक्ष मदन लाल सैनी को 16 अगस्त को पार्टी का रुख स्पष्ट करने को कहा था। हालांकि उस दिन भाजपा के वकील अनुपस्थित रहे थे। जिसके बाद शनिवार को सुनवाई की गई। अधिवक्ता अजीत कुमार शर्मा भाजपा का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं, जबकि राज्य सरकार ने अदालत में अपना पक्ष रखने के लिए राजेंद्र प्रसाद को चुना है।

बता दें कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की राजस्थान गौरव यात्रा का दूसरा दौर अब 24 अगस्त से जोधपुर संभाग से शुरू होगा। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी ने यहां संवाददाताओं को यह जानकारी दी। इस यात्रा का दूसरा चरण 16 अगस्त से भरतपुर संभाग से शुरू होना था लेकिन पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन और सात दिन के राष्ट्रीय शोक के मद्देनजर इसे स्थगित कर दिया गया। सैनी ने कहा कि यात्रा का दूसरा चरण अब 24 अगस्त से जोधपुर संभाग से शुरू होगा। पूर्व कार्यक्रम के अनुसार इस यात्रा को 23 अगस्त से जोधपुर से शुय होना था लेकिन ईद के अवकाश को देखते हुए इसे एक दिन आगे बढ़ाया गया है।

Back to top button