राजस्थान: गहलोत सरकार में सिर्फ 1 महिला मंत्री, वसुंधरा राजे कैबिनेट में थीं चार

जयपुर।

राजस्थान में सोमवार को कैबिनेट का गठन हो गया है। गहलोत सरकार के पहले मंत्रिमंडल विस्तार के तहत 23 विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ले ली है। इसमें 13 कैबिनेट जबकि 10 राज्यमंत्री शामिल हैं। हालांकि राजस्थान के कैबिनेट विस्तार में इस बार महिलाओं को नजरअंदाज किया गया है।

इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 23 मंत्रियों में से सिर्फ एक महिला विधायक ममता भूपेश ने ही मंत्री पद की शपथ ली है। इसकी तुलना में पिछली बार वसुंधरा राजे के मंत्रिमंडल में 4 महिला मंत्री थीं।

\

सोमवार को राजस्थान में हुए कैबिनेट विस्तार में ममता भूपेश ने राज्यमंत्री पद की शपथ ली है। वह सिकराय निर्वाचन क्षेत्र से विधायक चुनी गई हैं। बात करें पूर्व की वसुंधरा राजे सरकार की तो उनके कैबिनेट में 4 महिला मंत्री थीं जिनमें से एक राज्यमंत्री के पद पर थीं। इनमें महिला एवं बाल विकास मंत्री के पद पर अनीता भदेल, शिक्षा मंत्री के रूप में किरण माहेश्वरी और पर्यटन मंत्री कृष्णेंद्र कौर (दीपा) शामिल थीं।

वहीं वसुंधरा के मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री कमसा मेघवाल दलित चेहरे में रूप में शामिल थीं। दिलचस्प यह है कि इस बार राजस्थान चुनाव में कुल 179 महिला उम्मीदवार थीं जिनमें से 23 महिलाएं विधायक चुनी गई थीं।

हालांकि इस मामले में राजस्थान का अपना इतिहास रहा है जिसमें महिला विधायकों की संख्या में भी गिरावट आई है। जहां 2008 में 28 महिला विधायक चुनी गई थीं, वहीं 2013 में 25 विधायक चुनकर आई थीं।

new jindal advt tree advt
Back to top button