राजनांदगांव : कलेक्टर ने किया विश्व स्तनपान सप्ताह के पोस्टर का विमोचन

शिशु को शुरूआती 6 महीने माँ का दूध पर्याप्त, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढऩे के साथ स्वास्थ्य एवं पोषण अच्छा रहता है

  • शिशु को शुरूआती 6 महीने माँ का दूध पर्याप्त, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढऩे के साथ स्वास्थ्य एवं पोषण अच्छा रहता है
  • जागरूकता के लिये प्रकाशित यह पोस्टर घर-घर जाकर शिशुवती माताओं को वितरित किया जायेगा

राजनांदगांव 01 अगस्त 2020 : कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने विश्व स्तनपान सप्ताह के अवसर पर आज स्तनपान सप्ताह पोस्टर का विमोचन किया। कलेक्टर वर्मा ने यह अपील की है कि शिशु को शुरूआती 6 महीने सिर्फ माँ का दूध पर्याप्त है। जिससे उनमें रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और उनका स्वास्थ्य एवं पोषण अच्छा रहता है। उन्होंने शिशुवती माताओं से आग्रह किया है कि अपने शिशु के अच्छे स्वास्थ्य के लिये उनको स्तनपान अवश्य कराएं। उन्होंने कहा कि इसे सघन अभियान के रूप में चलायें।

इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी, कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास रेणु प्रकाश एवं महिला बाल विकास की टीम उपस्थित थी। जागरूकता के लिये प्रकाशित यह पोस्टर घर-घर जाकर शिशुवती माताओं को वितरित किया जायेगा।

5 माह के बालक ओजल के माता-पिता से भेंट कर

स्तनपान के संबंध में दी गई जानकारी-

विश्व स्तनपान सप्ताह के अवसर पर ग्राम पंचायत खुज्जी के आंगनबाड़ी क्षेत्र राजीव नगर में पर्यवेक्षक सेक्टर डोंगरगांव एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा संयुक्त गृहभेंट किया गया। जिसमें 5 माह के बालक ओजल की माता अंजनी देवांगन एवं पिता  तिलेश्वर देवांगन से भेंट करके स्तनपान संबंधित टेकअवे एवं वीडियो प्रदर्शन के माध्यम से परामर्श दिया गया।

परामर्श के दौरान ओजल के दादा-दादी भी उपस्थित थे। शिशु को 6 माह तक केवल स्तनपान कराने बताया गया एवं छह माह पूर्ण होने पर स्तनपान के साथ ऊपरी आहार की शुरूआत कैसे की जाए उसकी जानकारी भी दी गई। हितग्राही के घर रेडी टू ईट के पैकेट का निरीक्षण किया गया जो डबल लेयर पॉलिथीन पैकिंग पाया गया। हितग्राही ने बताया कि वे रेडी टू ईट का उपयोग रोटी एवं चीला बनाकर करते हैं।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button