छत्तीसगढ़

राजनांदगांव : पुष्प महोत्सव का समापन समारोह में शामिल हुए दलेश्वर साहू

छत्तीसगढ़ पिछड़ा वर्ग प्राधिकरण के अध्यक्ष दलेश्वर साहू नगर पालिक निगम द्वारा आनंद वाटिका में आयोजित पुष्प महोत्सव के समापन समारोह में शामिल हुए।

राजनांदगांव 14 फरवरी 2021 : छत्तीसगढ़ पिछड़ा वर्ग प्राधिकरण के अध्यक्ष दलेश्वर साहू नगर पालिक निगम द्वारा आनंद वाटिका में आयोजित पुष्प महोत्सव के समापन समारोह में शामिल हुए। मुख्य अतिथि की आसंदी से कार्यक्रम को संबोधित करते हुए दलेश्वर साहू ने कहा कि फूल प्रकृति के स्वरूप है। जब हम फूल, मोर, तितली के रंग और स्वरूप को देखते हैं, तो हम ईश्वर के रूप को देखते हैं। उन्होंने पुष्प महोत्सव के सफल आयोजन के लिए नगर निगम आयुक्त एवं उनकी टीम को बधाई दी।

पुष्प महोत्सव

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए छत्तीसगढ़ अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य हफिज खान ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रयासों से पर्यटन की सुविधा बढ़ी है और पर्यटन के क्षेत्र में हमारे प्रदेश को पहचान मिली है। विशिष्ट अतिथि राजगामी संपदा न्यास के अध्यक्ष  विवेक वासनिक ने पुष्प महोत्सव के इस अवसर पर मातृ-पितृ दिवस मनाने के लिए उन्होंने आभार व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि नगर निगम आयुक्त आनंद वाटिका एवं बर्थडे पार्क के निर्माण के लिए सदैव याद किए जाएंगे। उनका यह प्रयास है कि लोग प्रकृति से संस्कृति की ओर जुड़े। महापौर हेमा देशमुख ने कहा कि प्रकृति पांच तत्वों से मिलकर बनी है। प्रकृति को सहेजना, संरक्षण करना और इससे जुड़ना मनुष्य का स्वभाव है। नगर निगम की टीम ने इसी सोच को पुष्प महोत्सव में प्रदर्शित किया है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सोच के अनुरूप छत्तीसगढ़ की माटी की सुगंध हमारे संस्कृति में है। उन्होंने कहा कि राम वन गमन पथ यहां उकेरा गया है। प्रकृति को उसके स्वभाव के अनुरूप उकेरकर यहां साजसजा की गई है। पुष्प अभिव्यक्ति के माध्यम हैं, वे अपनी संुदरता से हृदय में स्थान बना लेते हैं। सुकून की बात हो या इत्र या वीरों को श्रद्धांजलि देना हो या धार्मिक अनुष्ठान फूल के बिना पूरे नहीं होते।

नया गढ़बो राजनांदगांव

प्रकृति और मनुष्य एक दुसरे के बिना अधूरे है। नगरवासियों के सहयोग से आज यह सफल आयोजन किया गया। नगर निगम आयुक्त  चंद्रकांत कौशिक ने कहा कि पुष्प महोत्सव से हमने यह संदेश दिया है कि प्रकृति हमारा ईश्वर है। हमारे प्राचीन ग्रंथ ऋगवेद एवं अन्य धर्मों में भी उल्लेख है कि यह सृष्टि पांच तत्वों से मिलकर बनी है। उन्होंने कहा कि प्रकृति को छत्तीसगढ़ की संस्कृति से जोड़कर यह आयोजन किया गया। नया गढ़बो राजनांदगांव के अनुरूप संस्कारधानी में पुष्प महोत्सव का यह दूसरा सफल आयोजन है। जिसमें शहर के सभी नागरिकों एवं विभिन्न संस्थानों का भी सहयोग रहा है। उन्होंने सभी का आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर नगर निगम राजनांदगांव के अध्यक्ष हरिनारायण धकेता, वरिष्ठ पार्षद कुलबीर छाबड़ा, सुनीता फड़नवीस ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। इस अवसर पर मातृ-पितृ दिवस मनाया गया एवं समता वृद्धाश्रम के वृद्धजनों को आरंभ एक प्रयास संस्था के सदस्यों द्वारा चरण धोकर उनसे आर्शीवाद लिया गया और माता-पिता का सदैव सम्मान करने का संदेश दिया गया। इस अवसर पर पार्षदगण मधुकर बंजारी,सतीश कुमार युसुस,गणेश पवार,राजा तिवारी,बैना बाई टुरहाटे,संतोष पिल्ले,भागचंद साहू, विनय झा, राजेश गुप्ता एवं अन्य जनप्रतिनिधि तथा बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button