राजनांदगांव : कमला कॉलेज में पांच दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का हुआ आयोजन

शासकीय कमला देवी राठी महिला महाविद्यालय राजनांदगांव के वनस्पतिशास्त्र विभाग एवं आईक्यूएसी द्वारा इंस्ट्रूमेंटन विषय पर ऑनलाईन पांच दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।

राजनांदगांव 17 जुलाई 2021 : शासकीय कमला देवी राठी महिला महाविद्यालय राजनांदगांव के वनस्पतिशास्त्र विभाग एवं आईक्यूएसी द्वारा इंस्ट्रूमेंटन विषय पर ऑनलाईन पांच दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का आयोजन 5 से 9 जुलाई 2021 तक प्राचार्य एवं संरक्षक डॉ. सुमन सिंह बघेल के मार्गदर्शन, प्रभारी विभागाध्यक्ष एमके मेश्राम के संयोजन तथा आयोजन के सचिव डॉ. चेतना गुप्ता और सहसचिव प्रभात कुमार बैस द्वारा किया गया। कार्यशाला में सम्मिलित होने के लिए 854 प्रतिभागियों ने पंजीयन कराया था।

पांच दिनों तक चले राष्ट्रीय कार्यशाला के पहले दिन मुख्य अतिथि के रूप में स्कूल ऑफ लाइफ साइंस बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी लखनऊ उत्तरप्रदेश के डीन एवं नेशनल सेक्रेटरी ऑफ जूलॉजी सोसाइटी ऑफ इंडिया डॉ. कमल जायसवाल उपस्थित थे। कार्यशाला में डॉ. जायसवाल ने अपने व्याख्यान में शिक्षकों, रिसर्च स्कालरों, छात्राओं को नवीन शोध के बारे में बताया।

उन्होंने बायो सांईस में इनस्टु्रमेनटेशन की महत्ता एवं उनके प्रभाव के बारे में विस्तृत जानकारी दी तथा शोध एवं अध्ययन के क्षेत्र में शार्टकट न अपनाते हुए वृहद प्रायोगिक तरीकों से कार्य करने पर जोर दिया। कार्यक्रम की संरक्षक एवं प्राचार्य डॉ. सुमन सिंह बघेल ने पुराने एवं नये उपकरणों के आविष्कार और वर्तमान में नवीन शोधो एवं मेडिकल क्षेत्र में उनकी उपयोगिता के बारे में संक्षिप्त में बताया। कार्यक्रम के संयोजक एमके मेश्राम ने बायोसांइस में इंस्ट्रूमेंशन की आवश्यकताओं के बारे में अपने विचार व्यक्त किए।

यह भी पढ़ें :- राजनांदगांव : कलेक्टर ने अंतर्राष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम का जायजा लिया 

राष्ट्रीय कार्यशाला के प्रथम टेक्निकल सत्र में भिलाई महिला महाविद्यालय रसायनशास्त्र विभाग की सहायक प्राध्यापक डॉ. बर्नापाल मजुमदार ने एक्स-रे डिफरेक्सन पर अपना ऑनलाइन व्याख्यान पीपीटी के माध्यम से सुरूचिपूर्ण चित्रों के साथ प्रस्तुत किया। उन्होंने एक्स-रे के कार्यप्रणाली और उसके सिद्धांतों के बारे में विस्तार से बताया।

कार्यशाला के दूसरे टेक्निकल सत्र में शासकीय इंदिरागांधी आट्र्स एवं कामर्स महाविद्यालय वैशाली नगर भिलाई वनस्पतिशास्त्र विभाग की सहायक प्राध्यापक डॉ. मिनाक्षी भारद्वाज ने कनफोकल माइक्रोस्कोपी एवं माइक्रोटॉमी पर अपना व्याख्यान और प्रस्तुतीकरण दिया। कार्यशाला में कनफोकल माइक्रोस्कोपी के सभी पाटर््स एवं उनके कार्यविधि पर प्रकाश डालते हुए माइक्रोटॉमी के सभी प्रकारों एवं उनके विभिन्न कार्यक्षमताओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

कार्यशाला के तीसरे टेक्निकल सत्र में इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंस एंड बनारस यूनीवर्सिटी एवं यूएसए रिटर्न डॉ. हेमंत कुमार पाठक ने फलोरोसेन्ट इनसीटु हाईब्रीडाइजेशन व जीनोमिक इनसीटु हाइब्रीडाइजेशन पर व्याख्यान दिया। चौथे टेक्निकल सत्र में भिलाई महिला महाविद्यालय रसायनशास्त्र विभाग की सहायक प्राध्यापक डॉ. बर्नापाल मजुमदार ने केलोरीमीटर एवं स्पेक्टेफोटोमीटर के सिद्धांत व थ्योरी को पीपीटी के माध्मय से विस्तार से जानकारी दी।

यह भी पढ़ें :- गौठानों में उत्पादित वर्मी कम्पोस्ट का शतप्रतिशत विक्रय सुनिश्चित करें : कलेक्टर

डॉ. बर्नापाल मजुमदार ने प्रयोगशाला में उपकरणों को प्रेक्टिकल कर लाइव दिखाया तथा प्रेक्टिकल के दौरान रखने वाली सावधानियों के बारे में बताया। इस दौरान उन्होंने छात्र-छात्राओं द्वारा पूछे गये प्रश्रों के उत्तर भी दिए। पांचवें टेक्निकल सत्र में शासकीय दिग्विजय ऑटोनॉमस पीजी महाविद्यालय राजनांदगांव रसायनशास्त्र विभाग की सहायक प्राध्यापक प्रियंका सिंह ने सेन्ट्रूीफ्यूग और इलेक्टोफोरेसिस के बारे में जानकारी पीपीटी के माध्यम से ऑनलाइन प्रस्तुत किया।

पांच दिवसीय ऑनलाईन राष्ट्रीय कार्यशाला के समापन समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में वाइस प्रिंसिपल धरमपीठ डीओ एमपी मेमोरियल सांइस कालेज, एचओडी ऑफ माइक्रोबाइलॉजी नागपुर महाराष्ट्र डॉ. अर्चना कुलकर्णी उपस्थित थी। आईक्यूएसी समन्वयक डॉ. जयसिंह साहू ने समारोह में उपस्थित सभी अतिथियों व विद्यार्थियों का स्वागत किया।

डॉ. अर्चना कुलकर्णी ने समापन समारोह में पांच दिवसीय ऑनलाईन राष्ट्रीय कार्यशाला के सफल आयोजन के लिए संस्था प्रमुख एवं आयोजन समीति को बधाई दी। उन्होंने छात्राओं को रिसर्च के क्षेत्र में आगे बढऩे के लिए प्रोत्साहित किया । कार्यक्रम का आभार प्रदर्शन डॉ. चेतना गुप्ता तथा कार्यक्रम का संचालन प्रभात कुमार बैस ने किया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ किया गया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button