मॉस्को में रूसी समकक्ष से मिलेंगे राजनाथ सिंह, रक्षा मुद्दों पर होगी बात: विदेश मंत्रालय

इस दौरान चीन के रक्षा मंत्री से उनकी मुलाकात होगी या नहीं इस पर मंत्रालय ने कोई जानकारी न होने की बात कही।

भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई। इसमें मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि रूस यात्रा के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रूस के रक्षा मंत्री से मुलाकात करेंगे। इस दौरान वह रक्षा संबंधी द्विपक्षीय मुद्दों पर बात करेंगे। उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री रूस में कई द्विपक्षीय बैठकों में शामिल होंगे। इस दौरान चीन के रक्षा मंत्री से उनकी मुलाकात होगी या नहीं इस पर मंत्रालय ने कोई जानकारी न होने की बात कही।

प्रेसवार्ता के प्रमुख बिंदु
श्रीवास्तव ने कहा कि रूस दौरे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अपने रूसी समकक्ष से मुलाकात करेंगे और विभिन्न रक्षा मुद्दों पर बात करेंगे। इस दौरान वह विभिन्न द्विपक्षीय बैठकों में भी हिस्सा लेंगे। यहां चीन के रक्षा मंत्री से उनकी मुलाकात होगी या नहीं उन्होंने इसकी जानकारी न होने की बात कही। राजनाथ सिंह तीन दिन के रूस दौरे को लेकर मॉस्को पहुंच चुके हैं। रक्षामंत्री एससीओ (शंघाई सहयोग संगठन) के रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेंगे।

चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर श्रीवास्तव ने कहा कि, हम शांतिपूर्ण वार्ता के जरिए सभी मुद्दों का हल करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं। आगे का रास्ता सैन्य और कूटनीतिक वार्ताएं हैं। हम चीन से पूरी तरह से विघटन और डी-एस्केलेशन के माध्यम से सीमा क्षेत्रों में शांति बहाल करने के उद्देश्य के साथ ईमानदारी से जुड़ने का आग्रह करते हैं। बता दें कि भारत और चीन के बीच तीन महीने से ज्यादा समय से एलएसी के पास सीमा विवाद चल रहा है।

कुलभूषण जाधव के मामले पर श्रीवास्तव ने कहा, ‘हम राजनयिक चैनलों के माध्यम से पाकिस्तान के संपर्क में हैं। कुलभूषण जाधव की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हमारी सरकार हर संभव कदम उठा रही है।’ उधर, इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव को डिफेंस काउंसिल मुहैया करने का निर्देश दिया है। इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने इस मामले की आगे की सुनवाई की तारीख छह अक्तूबर निर्धारित की है।

मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि बांग्लादेश कारगो ट्रांसपोर्टेशन के लिए भारत ने दो और मार्ग जोड़े हैं। उन्होंने कहा कि भारत के हालिया प्रयासों से दोनों देशों के संबंधों में मजबूती आएगी। प्रोटोकॉल के दूसरे परिशिष्ट पर हस्ताक्षर के साथ मार्गों की संख्या 10 हो गई है। सोनमुरा से दाउदकंडी मार्ग महत्वपूर्ण है जो बांग्लादेश के माध्यम से त्रिपुरा को राष्ट्रीय जलमार्ग से जोड़ता है। इसके लिए दाउदकंडी से ट्रायल रन शुरू हो गया है और पांच सितंबर को समाप्त होगा।

इस साल के अंत में चार देशों के मंत्रियों की बैठक के आयोजन की संभावना को लेकर श्रीवास्तव ने कहा कि इस बैठक को इस साल के अंत में आयोजित किया जा सकता है। इस पर काम चल रहा है। बता दें कि इस बैठक में भारत के साथ अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान शामिल हो सकते हैं।
सरकार द्वारा 118 और मोबाइल एप्स प्रतिबंधित करने के फैसले पर मंत्रालय ने कहा, ‘भारत में एफडीआई के लिए दुनिया में सबसे खुले शासनों में से एक है, इसमें इंटरनेट कंपनियां और डिजिटल टेक्नोलॉजी कंपनियां भी आती हैं। हालांकि, भारत सरकार द्वारा जारी नियमों और विनियमों का पालन करना उनकी जिम्मेदारी है।’ बता दें कि भारत सरकार ने तीसरी डिजिटल स्ट्राइक करते हुए बुधवार को पबजी समेत 118 एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button