पहली बार लखनऊ पहुंचे राजनाथ, कहा- पाकिस्तान को सही रास्ते पर आना ही होगा

लखनऊ। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एक बार फिर पाकिस्तान को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को सही रास्ते पर आना ही होगा। गृह मंत्री ने कहा हम पड़ोसी देश से अच्छे संबंध रखना चाहते हैं।

हमने रिश्ते बेहतर रखने का प्रयास भी किया। लेकिन पाकिस्तान के न सुधरने पर हमारे जवानों ने उनकी जमीन पर घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने यह बात रविवार को आलमबाग स्थित के के पैलेस में आयोजित पंजाबी सांस्कृतिक मिलन एवं सम्मान समारोह में कही।

प्रत्याशी घोषित होने के बाद पहली बार लखनऊ पहुंचे गृहमंत्री ने सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाने वाले नेताओं व दलों को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक से पाकिस्तान को परेशान होना चाहिए था। लेकिन हमारे देश के कुछ दल व नेता परेशान हैं।

वह हमारे जवानों के पराक्रम पर सवाल उठा रहे हैं। सर्जिकल स्ट्राइक में मारे गए आतंकवादियों की संख्या पूछ रहे हैं। गृहमंत्री ने कहा कि वह दावे के साथ कह रहे हैं कि जो कार्रवाई हुई वह इंटेलिजेंस के इनपुट के आधार पर हुई। कार्रवाई से पहले प्रधानमंत्री के साथ उनकी बैठक हुई थी। जिसमें प्रधानमंत्री ने कठोर कार्रवाई का निर्णय लिया था। उन्होंने कहा कि हमने पड़ोसी देश से बेहतर रिश्ते रखने का प्रयास किया लेकिन वह बाज नहीं आ रहा है।

गृहमंत्री ने चेतावनी देते हुए कहा कि पाकिस्तान को सही रास्ते पर आना ही होगा। राजनाथ सिंह ने नक्सलवाद पर भी बात की। उन्होंने कहा 2014 में जब उन्होंने गृहमंत्री की जिम्मेदारी संभाली थी तो देश के 126 जिले नक्सलवाद से प्रभावित थे। लेकिन 5 सालों में नक्सलवाद 60 फ़ीसदी खत्म कर दिया गया।

अब यह केवल आठ नौ जिलों में ही सिमटा है। उन्होंने कहा कि अवसर मिला तो हिंदुस्तान से नक्सलवाद का वह पूरी तरह सफाया कर देंगे। गृहमंत्री ने 26 नवंबर 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले की भी याद दिलाई।

उन्होंने कहा उस समय की कमजोर सरकार इस मामले में कठोर कार्रवाई नहीं कर पाई। बड़े पैमाने पर मुंबई में लोग मारे गए। लेकिन पुलवामा की घटना के बाद देश के जवानों ने पाकिस्तान की धरती पर जाकर सर्जिकल स्ट्राइक की। आतंकी अड्डों का सफाया किया।

Back to top button