मनोरंजनराष्ट्रीय

सुशांत के निधन बाद उन्हें न्याय दिलाने के लिए मैदान में कूद पड़े राजस्थान के राजपूत

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के निधन के विरोश में लड़ाई का ऐलान किया

जयपुर: फिल्म इंडस्ट्री पर एक दशक से भी ज्यादा समय से अपने विरोध-प्रदर्शन और हिंसक आंदोलनों से खौफ पैदा करने वाली करणी सेना ने इस बार बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के निधन के विरोश में लड़ाई का ऐलान किया है।

श्री राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना ने एक वीडियो संदेश में इसकी घोषणा कर दी है। पिछले 16 घंटे में इस वीडियो को 63 हजार से ज्यादा लोग देख चुके हैं। इस वीडियो में उन्होंने मकरना ने जल्द ही आगे की प्लानिंग बताने की बात कही है।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत इसी महीने 14 जून को मुंबई में उनके घर पर हुई थी। उनक शव उनके कमरे में फंदे से लटका मिला था। इस घटना के बाद हर कोई सन्न रह गया था और कुछ लोगों ने सुशांत की मौत को आत्महत्या तो कुछ लोगों ने हत्या करार दिया। फिलहाल मुंबई पुलिस इस मामले में 12 से ज्यादा लोगों से पूछताछ कर चुकी है।

करणी सेना अध्यक्ष ने क्या कहा?

महिपाल सिंह ने इस वीडियो में कहा है कि यदि क्षत्रियों को साथ देंगे तो क्षत्रिय आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर आपके साथ खड़ा रहेगा। उन्होंने राजपूतों के प्रति व्यवहार पर सवाल उठाते हुए कहा है कि, ‘पूरे देश में क्या चल रहा है क्षत्रियों के खिलाफ? आप देख लिजिए।

सुशांत सिंह का मुद्दा ज्वलंत है। सुशांत सिंह ने भले ही पद्मावती मुद्दे पर अपना सरनेम (राजपूत) हटा लिया था लेकिन दो दिन बाद समाज से माफी मांगकर सरनेम लगा भी लिया था। सुशांत ने राजपूत सरनेम नहीं भी लगाया हो तो हमारा भाई था, हम आपस में घर में कैसे भी झगड़े’।

बॉलीवुड पर लगाए गंभीर आरोप

करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि ‘उसको आत्महत्या करने के लिए मजबूर किया गया। तो यहीं की वो जो असमानताएं हैं, यहीं के वो जो लोग हैं जिनके चक्कर में सुशांत सिंह ने ‘राजपूत’ शब्द हटाया। उन्हीं लोगों ने उनको मरवा दिया। इतनी टेंशन दे दी।

आप देखिए राजपूत के साथ किस तरह का व्यवहार पूरे देश में हो रहा है। राजपूतों को चुन चुनकर जो आगे हैं उनको डिमोरलाइज किया जा रहा है। उनको बकायदा इतना ज्यादा प्रताड़ित किया जा रहा है कि कोई आत्महत्या कर रहा है, कोई हत्या हो रही है। और कोई यहां से भाग जा रहा है। कि यहां से चले जाएं तो ठीक रहे।

…और फिर किया लड़ाई का ऐलान

मकरना ने कहा कि वो समझ ही नहीं पा रहे हैं कि इस देश के लिए जिन्होंने अपना सर्वश नौच्छावर कर दिया, उनके साथ ऐसा व्यवहार हो रहा है। उनके साथ छूआछूत जैसा बरताव किया जा रहा है। उस जाति के लिए इस तरह का बर्बतापूर्ण व्यवहार वो कतई बर्दास्त नहीं करेंगे।

उन्होंने कहा, ‘चाहे सुशांत सिंह हो या महाराणा प्रताप, महाराणा प्रताप के स्वाभिमान के लिए लड़ेंगे तो सुशांत सिंह के लिए भी लड़ेंगे। और उस हर एक ज्यादती के खिलाफ लड़ेंगे जो हमारे समाज के खिलाफ हो रही हो। हमारे इतिहास के खिलाफ हो रही हो। आने वाले दिनों आपको जल्द बताऊंगा कि हमें क्या करना है’।

Tags
Back to top button