राज्यसभा चुनाव 2019: बसपा के MLA योगी की बैठक में हुए शामिल

राज्यसभा के 59 सीटों के लिया आज चुनाव होना है | हालांकि विधायकों के गणित की वजह से कई सदस्य पहले ही निर्विरोध चुने जा चुके हैं. 59 सीटों में से 25 सीटों पर शुक्रवार को वोटिंग है.

राज्यसभा के 59 सीटों के लिया आज चुनाव होना है | हालांकि विधायकों के गणित की वजह से कई सदस्य पहले ही निर्विरोध चुने जा चुके हैं. 59 सीटों में से 25 सीटों पर शुक्रवार को वोटिंग है. बाकी 33 सीटों पर एक ही उम्मीदवार होने के कारण उनका निर्वाचन 15 मार्च को ही हो चुका है.

चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश से बड़ी खबर आई. बसपा विधायक अनिल सिंह ने गुरुवार को बीजेपी विधायकों से मुलाकात की. मुख्यमंत्री आवास पर हुई विधायक दल की बैठक में अनिल सिंह को भी देखा गया था. साफ है कि ऐसे में चुनावों क्रॉस वोटिंग की संभावना हो सकती है.

हालांकि इसके बावजूद कुछ राज्यों में एक दो सीटों के लिए दिलचस्प मुकाबला देखने को मिलेगा. वहीं इस चुनाव में बीजेपी के कई सदस्यों के पहुंचने के बाद भी राज्यसभा में बीजेपी बहुमत से दूर ही रहेगी. वहीं कांग्रेस की शक्त‍ि में गिरावट होने की पूरी संभावना है.

इन राज्यों में चुनाव

शुक्रवार को यूपी की 10, बिहार की 6, महाराष्ट्र की 6, पश्चिम बंगाल की 5, मध्य प्रदेश की 5, गुजरात की 4, कर्नाटक की 4, आंध्र प्रदेश की 3, राजस्थान की 3, ओडिशा की 3, तेलंगाना की 3, झारखंड की 2, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, हिमाचल, हरियाणा और केरल की एक-एक राज्यसभा सीट के लिए चुनाव होंगे और आज ही नतीजों का ऐलान किया जाएगा. इनमें से सबसे बड़ी जंग यूपी की 10वीं सीट को लेकर है. केरल में 1 राज्यसभा तब खाली हुई थी जब जदयू के सांसद एमपी वीरेंद्र कुमार ने इस्तीफा दे दिया था. उस सीट के लिए उपचुनाव भी साथ ही होगा.

यहां है मुकाबला

उत्तर प्रदेश: राज्य विधानसभा में संख्या बल के आधार पर भाजपा के आठ उम्मीदवारों का निर्वाचन तय है जबकि एक सीट सपा को मिलेगी. शेष बची एक सीट को अपनी झोली में डालने के लिये भाजपा का सपा और बसपा से संयुक्त मुकाबला होगा. चुनावी दौड़ में भाजपा के उम्मीदवारों में अरुण जेटली, अशोक बाजपेई, विजय पाल सिंह तोमर, सकलदीप राजभर, कांता कर्दम, अनिल जैन, हरनाथ सिंह यादव, जीवीएल नरसिंहाराव और अनिल कुमार अग्रवाल शामिल हैं.

कर्नाटक: 4 सीटों के लिये चुनाव मैदान में उतरे 5 म्मीदवारों में कांग्रेस के तीन और बीजेपी- जेडीएस के 1-1 हैं.

छत्तीसगढ़: एक सीट के लिये बीजेपी और कांग्रेस ने 1-1 उम्मीदवार उतारा है.

तेलंगाना: 3 सीटों के लिये 4 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं.

महाराष्ट्र: 6 सीटों के चुनाव में बीजेपी को 2, शिवसेना को 1 और कांग्रेस को 1 सीट मिलने की संभावना है. वहीं एनडीए के एकजुट होने पर 1 सीट और उसके खाते में जा सकती है. वहीं एनसीपी के पास 41 विधायक हैं. ऐसे में उसे सीट पाने के लिए दूसरी पार्ट‍ियों और निर्दलियों पर निर्भर रहना पड़ेगा.

झारखंड: 2 सीटों के लिए होने वाले चुनाव में बीजेपी की 1 सीट तो पक्की है, लेकिन दूसरी सीट के लिए उसे अपनी सहयोगी पार्टी आजसू के अलावा दूसरों का भी साथ चाहिए होगा. यहां 1 राज्यसभा सीट के लिए 28 विधायकों के समर्थन की जरूरत है. ऐसे में 1 सीट 19 विधायकों वाले जेएमएम के पास जा सकती है अगर वह कांग्रेस (7mla) और जेवीएम (2mla) का समर्थन हासिल करने में कामयाब रही.

पश्च‍िम बंगाल: 213 विधायकों के साथ टीएमसी 4 सीटें अपने खाते में आसानी से डालने में कामयाब रहेगी. हालांकि 1 सीट पर जीत के लिए 42 विधायकों वाली कांग्रेस को टीएमसी के बाकी बचे 13 या सीपीएम के 26 विधायकों के वोट आशा रहेगी. यहां एक सीट पर जीत के लिए 50 विधायकों के समर्थन की जरूरत होती है.

यह हुए निर्विरोध निर्वाचित

निर्विरोध निर्वाचित घोषित किये गये उम्मीदवारों में केंद्रीय मंत्रियों में रविशंकर प्रसाद और प्रकाश जावड़ेकर सहित सात मंत्री शामिल हैं.

advt
Back to top button