रैली निकालकर किया विरोध प्रदर्शन

विकल्प तललवार

बिलासपुर। बुधवार को ट्रेड यूनियन कॉउंसिल की राष्ट्रव्यापी हड़ताल के दूसरे दिन शहर के सभी ट्रैड यूनियन संगठन ने लामबंद हुए और रैली निकालकर सरकार की नीतियों के खिलाफ अपना विरोध प्रदर्शन किया।

दो दिवसीय हड़ताल के दूसरे व अंतिम दिन बुधवार को नेहरू चौक से सभी यूनियन के ग्रामीण बैंक, इंटक व राज्य कर्मचारी संघ समेत सभी संगठन लामबंद होकर रैली में शामिल हुए। यह सदरबाजार, गोलबाजार, अग्रसेन चौक होते हुए नेहरू चौक पहुंची।

रैली में शामिल सभी संगठन के पदाधिकारी व सदस्य अपनी मांगों को लेकर जमकर नारेबाजी करते रहे। सभी ने नई पेंशन नीति के विरोध में सभी मजूदरों के लिए 18 हजार रुपये न्यूनतम वेतन की मांग की।

बेरोजगारों के साथ वादाखिलाफी की निंदा की


इसके साथ ही उदारवादी आर्थिक नीति के दुष्परिणाम के प्रति सहमति जताई। साथ ही बेरोजगारों के साथ वादाखिलाफी की निंदा की। उनका कहना था कि जिस तरीके से देश के उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने की नीति अपनाई जा रही है।

उससे आम लोगों को लाभ नहीं मिल रहा है। सरकारी सार्वजनिक उद्योगों एचएएल, बीएसएनएल, बैंक, बीमा उद्योगों को बर्बाद करने साजिश की जा रही है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के नारा 4000 में दम नहीं 18000 से कम नहीं का भी समर्थन किया गया।

रैली में हर क्षेत्र के कार्यरत कर्मचारियों ने किया सहयोग


रैली में डिवीजन इंश्योरेंस एंप्लाइज एसोसिएशन, रेलवे, बैंक, बिजली, मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका संघ, बीएसएनएल के कर्मचारी बड़ी संख्या में शामिल हुए।

रैली के बाद जनसमूह को कौंसिल के महासचिव कामरेड राजेश शर्मा, शौकत अली, नंद कश्यप, रवि बनर्जी, सुनिता द्विवेदी, रवि श्रीवास, शिवा मिश्रा, पीआर यादव, प्रियंका शुक्ला, पवन शर्मा, सुब्रतो मुखर्जी समेत अन्य ने संबोधित किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में ट्रेड यूनियन कौसिंल के संगठनों के पदाधिकारियों व सदस्यों की उस्थिति रही।

1
Back to top button