जोगी से डरी रमन सरकार – संजीव अग्रवाल

रायपुर : जनता काँग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रवक्ता व मीडिया समन्वयक संजीव अग्रवाल ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि, छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री वह जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के संस्थापक अध्यक्ष अजीत जोगी व मरवाही के विधायक अमित जोगी जी की सभा के लिए हेलीपैड व सभा स्थल की सुरक्षा बाबत कलेक्टर को दिए गए आवेदन को शासन ने निरस्त कर दिया है।

गौरतलब है कि 7 अप्रैल 2018 को बीजापुर में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) की महारैली का आयोजन किया गया था जिसकी सभा स्थल की सुरक्षा वह अजीत जोगी व अमित जोगी के दौरे के लिए इस्तेमाल होने वाले हेलीकॉप्टर की लैंडिंग हेतु हेलीपैड की व्यवस्था का आवेदन किया गया था परंतु बिना किसी कारण के संबंधित क्षेत्र के कलेक्टर ने जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के आवेदन पर टिप्पणी करते हुए मात्र यह लिख दिया हेली पैड निर्माणाधीन अवस्था में है जिसके कारण यह अनुमति राज्य शासन द्वारा नहीं जा पाएगी।

संजीव के मुताबिक अब प्रश्न यह है राज्य शासन पर दबाव किसका है क्या यह कलेक्टर के निजी विचार हैं? क्या वास्तविक धरातल पर स्थिति यही है? या फिर माननीय श्री अजीत जोगी जी की बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए भाजपा सरकार की ओर से सभा की अनुमति व हेलीपैड की लैंडिंग की अनुमति वह माननीय अजीत जोगी वह विधायक अमित जोगी की सुरक्षा प्रदान करने के लिए कलेक्टर को कोई आदेश दिए गए थे।

संजीव अग्रवाल ने कहा कि, अनौपचारिक तौर पर अंदर खाने से यह बातें आ रही है किस जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जाएगी इस महारैली के आवेदन को निरस्त करने के पीछे जो मुख्य कारण है वह है अजीत जोगी की बढ़ती लोकप्रियता। गौरतलब है कि विगत कुछ महीनों में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जोगी लोकप्रियता बस्तर क्षेत्र में कई गुना बढ़ी है जिससे भाजपा सख्ते में है। जोगी जी के विजय रथ को रोकने के लिए यह भाजपा की ओर से की गई एक बहुत ही कायरतापूर्ण करवाई है।

जेसीसी प्रवक्ता ने कहा कि जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ की ओर से यह मांग की गई है की सभा के लिए अगर कलेक्टर को बीजापुर में किन्ही कारणों से कोई आपत्ति है तो वह स्वविवेक से किसी और स्थान को जैसे भोपालपट्टनम या अन्य कोई जगह पर सभा करने की वह हेलीपैड के व्यवस्था की अनुमति प्रदान करें।

संजीव अग्रवाल ने कहा कि देखने वाली बात यह भी है कि मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार 14 अप्रैल 2018 को बस्तर में भारत के प्रधानमंत्री व भारतीय जनता पार्टी के नेता नरेंद्र मोदी की तथाकथित रैली भी है। भाजपा मोदी जी की रैली से पहले अजीत जोगी की रैली नहीं होने देना चाहती है जिससे यह पूर्णतः साबित होता है अजीत जोगी के बढ़ते हुए कद और संपूर्ण प्रदेश में बढ़ते हुए जनाधार और प्रभाव से भाजपा डरी हुई है।

Back to top button