अयोध्या में शुरू हुई राम रसोई, हजारों श्रद्धालुओं को मिलेगा फ्री भोजन

अयोध्या: अयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद अब एक और अच्छी खबर आई है. रविवार को अयोध्या में राम रसोई की शुरुआत हो गई है. रामलला मंदिर के बाहर अमावा मंदिर में पटना के महावीर मंदिर ट्रस्ट ने राम रसोई की शुरुआत की है.

इस रसोई में रामलला के दर्शन को आने वाले श्रद्धालुओं को निःशुल्क भोजना कराया जाएगा. राम रसोई में रोज सुबह 11:30 बजे से दोपहर 2:30 बजे तक भोजन प्रसाद दिया जाएगा. पटना महावीर मंदिर ट्रस्ट 10 करोड़ रुपये चंदे के तौर पर राम मंदिर के लिए ऐलान कर चुका है.

ट्रस्ट के अध्यक्ष किशोर कुणाल ने बताया कि सभी चावल कैमूर (बिहार) के मोकरी गांव से मंगवाया गया है. राम रसोई और भगवान के भोग की सेवा लगातार चलती रहेगी. उन्होंने कहा कि इसके लिए अयोध्या के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास से बात हो चुकी है.

इस प्रसाद भोजन की शुभारंभ रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने श्रद्धालुओं को प्रसाद भोजन अपने हाथों से वितरित कर के किया. इससे पहले वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ भगवान राम जानकी के विवाह पंचमी की विशेष तिथि पर विशेष पूजन हुआ और भगवान राम की अनुमति के बाद राम रसोई का संचालन शुरू किया गया.

कुणाल ने कहा कि बिहार में पहले से ही सीतामढ़ी में सीता रसोई चल रही है.

यहां दिन में 500 लोग और रात में 200 लोगों को मुफ्त में भोजन कराया जाता है. किशोर कुणाल कहते हैं कि बिहार और दक्षिण भारतीय कुक को व्यंजन तैयार के लिए खास तौर पर बुलाया गया है.

जहां प्रतिदिन एक हजार से दो हजार के बीच श्रद्धालुओं को निःशुल्क भोजन देने की व्यवस्था की गई है. उन्होंने बताया कि राम रसोई सालों भर चलती रहेगी. इसके बाद में राम भक्तों की बढ़ती संख्या के आधार पर ज्यादा से ज्यादा लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाएगी.

कुछ दिनों पहले आचार्य किशोर कुणाल ने कहा था कि अयोध्या में राम रसोई की शुरुआत होने जा रही है. इसके लिए 60 क्विंटल गोविंद भोग और कतरनी चावल अयोध्या भेजा गया है. कुणाल ने कहा कि सभी चावल कैमूर (बिहार) के मोकरी गांव से मंगवाया गया है.

राम रसोई और भगवान के भोग की सेवा लगातार चलती रहेगी. उन्होंने कहा कि इसके लिए अयोध्या के मुख्य पुजारी से बात हो चुकी है.

कुणाल ने कहा कि बिहार में पहले से ही सीतामढ़ी में सीता रसोई चल रही है. यहां दिन में 500 लोग और रात में 200 लोगों को मुफ्त में भोजन कराया जाता है. इसी क्रम में अयोध्या में भी राम रसोई शुरू होने जा रही है. यहां शुरुआती दौर में प्रतिदिन एक हजार लोगों के भोजन करने की संभावना है. इसके बाद में राम भक्तों की बढ़ती संख्या के आधार पर ज्यादा से ज्यादा लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाएगी.

Back to top button